Sukanya Samriddhi Yojana,सुकन्या योजना फॉर्म Online Apply 2022

आज हम जानेंगे की सुकन्या समृद्धि योजना क्या है, सुकन्या योजना फॉर्म online Apply, सुकन्या समृद्धि योजना में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या योजना फॉर्म कैसे भरे, sukanya samriddhi yojana जिसकी पूरी प्रोसेस हम Step By Step Process आपको बताने वाले है. 

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है (Sukanya Samriddhi Yojana kya hai)-

Table of Contents

आज हम जानेंगे की सुकन्या समृद्धि योजना क्या है और कैसे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत Sukanya Samriddhi Yojana की शुरुआत 2 दिसंबर 2014 में की गई थी। इस योजना के अंतर्गत जन्म से लेकर 10 वर्ष तक आयु की कन्याओं का अकाउंट खोला जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट कोई भी नागरिक अपने किसी नजदीकी पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में खुलवा सकता है। इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम ₹1000 की धनराशि जमा करनी होती है। Sukanya Samriddhi Yojana का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को आगे बढ़ाना है।

और उनकी पढ़ाई, विवाह योग्य होने पर पैसों की कमी ना आए, इसके लिए माता-पिता छोटी-छोटी धनराशि इस योजना के अंतर्गत बचत कर सकते हैं।
योजना के अंतर्गत जब लड़की 18 वर्ष की होगी तब वह पढ़ाई के लिए इस खाते से पैसे निकाल सकती है। और 21 वर्ष की होने पर विवाह के समय Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत जमा संपूर्ण धनराशि निकालकर अपने विवाह आदि में उपयोग कर सकती हैं।

sukanya samriddhi yojana image

सुकन्या समृद्धि योजना से लड़कियों को काफी प्रोत्साहन मिलता है। जिससे वह आगे बढ़ेंगी। और देश के विकास में भागीदार होंगी। इसके साथ ही देश में नारियों की स्थिति और अधिक सशक्त सुदृढ़ होगी।

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना
वर्ष2022
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश की बालिकाएं
उद्देश्यबेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं

सुकन्या समृद्धि योजना में कौन अकाउंट खोल सकता है?

अब हम जानेंगे की Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत केवल जन्म से लेकर 10 वर्ष की उम्र की लड़की के नाम पर ही अकाउंट खोला जा सकता है। अर्थात इस योजना के अंतर्गत 10 वर्ष से ऊपर लड़कियों का अकाउंट ओपन नहीं किया जा सकता है।

यह योजना का लाभ अनिवासी भारतीय (एन आर आई) नहीं प्राप्त कर सकते हैं। यदि कोई कन्या, सुकन्या समृद्धि खाता ओपन करने के पश्चात एन आर आई बन जाती है। तो उसे सुकन्या समृद्धि योजना का खाता बंद करना होगा।

Sukanya Samriddhi Yojana में आप कितने खाते खोल सकते हैं?

यह भी जानना ज़रूरी है की Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत आप कितने अकाउंट ओपन कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत आप कितने अकाउंट खोल सकते हैं। इसके बारे में आप इस तरह समझ सकते हैं –

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत आप एक कन्या के नाम से केवल एक ही अकाउंट खोल सकते हैं।

कन्या के माता पिता अथवा अन्य कानूनी अभिभावक इस योजना के अंतर्गत दो अकाउंट खोल सकते हैं।
यदि किसी माता-पिता की पहली संतान कन्या है। और दूसरी संतान दो जुड़वा कन्यायें हैं

तब वह तीसरा अकाउंट ओपन करवा सकते हैं। ऐसी स्थिति में माता-पिता को मेडिकल प्रमाण पत्र भी जमा करना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए-

सुकन्या समृद्धि योजना में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए इसमें कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है। जो कि इस प्रकार है – Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आवश्यकता होगी.

  • आधार कार्ड
  • बच्चे और माता पिता की पासपोर्ट साइज फोटो
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • माता या पिता में से किसी का पैन कार्ड राशन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस


सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा-

  • यह सवाल सभी के मन में रहता है ज्यदातार जो सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा.
  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आपको प्रारंभिक रूप में न्यूनतम ₹1000 जमा करके खाता खोलना होगा।

आप इस चित्र में देखकर अच्छे से जान सकते हो की समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा और आप भी चेक कर सकते हो की कैसे समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा.

आप नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके अपनी बेटी की उम्र डाल सकते है और कब से और कितने रूपये महीने की शुरू करनी है सभी प्रकार से चेक कर सकते है-

सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा
  • यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में एक वित्तीय वर्ष में डेढ़ लाख रूपय से अधिक की धनराशि जमा कर देते हैं।
  • तो अतिरिक्त धनराशी पर आपको किसी भी प्रकार का ब्याज प्रदान नहीं किया जाएगा। और अतिरिक्त जमा की गई धनराशि को आप कभी भी वापस ले सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के फायदे क्या है-

  • सुकन्या समृद्धि योजना के फायदे होते है वो निम्न है-
  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाता खोलने के कई लाभ है। आप इन्हें इस प्रकार से हो सकते हैं – सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जमा की गई धनराशि करमुक्त है।
  • इस योजना के अंतर्गत एक वित्तीय वर्ष में आप अधिकतम डेढ़ लाख ऊपर तक ही जमा कर सकते हैं।
    सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत मिलने वाला ब्याज भी करमुक्त है।
  • इस योजना के अंतर्गत 9.2 प्रतिशत का ब्याज प्रदान किया जाएगा।
    सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जब कन्या 18 वर्ष की हो जाएगी। तब वह पढ़ाई के लिए पैसे निकाल सकती है।
  • इसके साथ 21 वर्ष होने पर वह विवाह के लिए संपूर्ण धनराशि निकाल सकती है।
    इस योजना के अंतर्गत खोले गए खाते को आप कभी भी किसी भी बैंक से अथवा पोस्ट ऑफिस से किसी दूसरी बैंक या पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में स्थांतरण कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना के नुकसान-

सुकन्या समृद्धि योजना से डायरेक्ट कोई नुकसान नजर नहीं आता। सभी सरकारी बचत योजनाओं के मुकाबले, इसमें सबसे ज्यादा ब्याज मिलती है।जमा और ब्याज पर पूरी तरह टैक्स छूट भी मिलती है।लेकिन, निवेश (investment) की हिसाब से यह बहुत फायदेमंद नहीं होती।

सुकन्या समृद्धि योजना के नुकसान निम्नलिखित हैं-

  • सामान्य रूप से,  सुकन्या समृद्धि अकाउंट 21 साल तक के लिए होता है। सुकन्या अकाउंट के साथ  इस प्रतिबंध का पालन करना कुछ लोगों के लिए मुश्किल भरा भी हो सकता है।
  • हालांकि ऐसी आशंकाओं को देखते हुए ही,  5 साल बाद कुछ अनिवार्य तरह के मामलों में सुकन्या समृद्धि खाता बंद करने और पूरा पैसा निकालने की छूट भी  दी गई है।  जैसे कि
  • खाताधारक लड़की की मृत्यु होने पर आप बीच में  सुकन्या अकाउंट बंद कर सकते हैं
  • खाताधारक लड़की को जानलेवा बीमारी होने पर  इलाज के लिए खाता बंद कर सकते हैं
  • लड़की के अभिभावक की मृत्यु होने पर  भी उसका सुकन्या अकाउंट बंद कर सकते हैं
  • इसके अलावा भी लड़की की उम्र 18 साल पूरी होने के बाद, उसकी शादी के लिए  या उच्च शिक्षा (higher Education) के लिए भी अकाउंट में  मौजूद बैलेंस का 50% तक निकाला जा सकता है। 
  • पिछले कुछ वर्षों का रिकार्ड देखा जाए तो सुकन्या समृद्धि योजना खाते की ब्याज दर भी घटती रही है।  मतलब यह कि  आज के हिसाब से जो रकम मिलती दिख रही है,  ब्याज दर घटने के कारण आगे चलकर  उससे कम भी मिल सकता

सुकन्या समृद्धि योजना में खोलने पर ब्याज दर क्या मिलती है –

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत पहले 9.2% प्रदान किया जाता था। लेकिन वर्तमान में 2022 में यह ब्याज दर घटाकर 8.1% कर दिया गया है। यह ब्याज दर अब भी सभी सरकारी योजनाओं से ज्यादा है।

अवधिब्याजदर
अप्रैल 2014 से मार्च 2015 तक9.10 %
अप्रैल 2015 से मार्च 2016 तक9.20 %
जुलाई 2016 से सितंबर 2016 तक8.60 %
अक्टूबर 2016 से मार्च 2017 तक8.50 %
अप्रैल 2017 से जून 2017 तक8.40 %
जुलाई 2017 से दिसंबर 2017 तक8.30 %
जनवरी 2018 से सितंबर 2018 तक8.10 %
अक्टूबर 2018 से जून 2019 तक8.50 %
जुलाई 2029 से मार्च 2020 तक8.40 %
अप्रैल 2020 से सितंबर 2021 तक7.60 %

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने का फार्म डाउनलोड कैसे करे-

यदि आपको सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता ओपन कराना चाहते हैं। तो आपको पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक द्वारा इस योजना के लिए फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।

यदि आपको पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक द्वारा फार्म प्राप्त करने में किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

तो आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके Sukanya Samriddhi Yojana खाता फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।

सुकन्या योजना फॉर्म कैसे भरे-

अब तक हमने जाना की सुकन्या समृद्धि योजना क्या है, सुकन्या समृद्धि योजना में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा लेकिन अब हम जानते है की सुकन्या योजना फॉर्म कैसे भरे.

सुकन्या योजना फॉर्म online कैसे भरे –

  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत ऑनलाइन खाते के लिए आवेदन करने के लिए आप नीचे बताए गए आसान से स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं –सबसे पहले आपको 28 राष्ट्रीयकृत बैंकों में से किसी एक बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जिस बैंक में आप सुकन्या समृद्धि खाता ओपन करना चाहते हैं।वेबसाइट के होमपेज पर पहुंचने के पश्चात यहां आपको Sukanya Samriddhi Yojana का लिंक मिलेगा। जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • इस लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपको अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा। जिसमें आपको रेजिडेंशल प्रूफ माता-पिता का पहचान पत्र और बच्चे का पहचान का पत्र और जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  • यहां पर आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी की प्रामाणिकता होना आवश्यक है। आपके द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी को बैंक द्वारा प्रमाणित किया जाएगा।
  • सभी जानकारी भरने और आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करने के पश्चात आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आवेदन पत्र सबमिट करने के पश्चात आपको पहली राशि बैंक खाते में जमा कर खाता चालू कर सकते हैं।आप नेट बैंकिंग की मदद से भी पैसे जमा कर सकते हैं।
  • खाता ओपन होने के पश्चात जब भी आपके खाते में पैसे जमा करते हैं। आपको SMS द्वारा सभी जानकारी प्रदान कर दी जाती है।

सुकन्या योजना फॉर्म offline कैसे भरे –

  • यदि आप Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं। तो आप नीचे बताये जा रहे आसन से स्टेप्स को फॉलो करके ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं –सुकन्या समृद्धि योजना खाते के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को लेकर अपने नजदीकी किसी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में जाना होगा।
  • बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में पहुंचकर आपको सुकन्या समृद्धि योजना फार्म प्राप्त करना होगा। आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को आपको सही-सही भरना होगा।
  • इसके साथ ही आप को आवेदन पत्र में आवश्यक सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी भी संलग्न करना होगा।
  • सभी जानकारी सही-सही भरने और आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करने के पश्चात अपना आवेदन पत्र बैंक अथवा डाकघर द्वारा निर्धारित काउंटर पर जमा करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म जमा करने के पश्चात बैंक अथवा डाकघर द्वारा आवेदन पत्र की जांच की जाएगी। और उसके पश्चात खाता खोल दिया जाएगा।
  • खाता खोलने के पश्चात बैंक और डाकघर द्वारा आपको पासबुक भी प्रदान की जाएगी। जिसमें आप के सभी लेन-देन का विवरण प्रदान किया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट का बैलेंस चेक कैसे करे-

  • सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई थी। जिसके तहत निवेश पर 7.6 प्रतिशत ब्याज दिया जाता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से एक्सेस किया जा सकता है।
  • आप सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बहुत आसानी से अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। इस बार सुकन्या समृद्धि योजना के खाते 25 से अधिक बैंक प्रदान कर रहे हैं। आपको इन बैंकों में जाकर अपना खाता खोलना होगा।
  • इसके बाद आपको बैंक द्वारा पासबुक प्रदान की जाएगी। आप पासबुक के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं।
  • यह खाता शेष डिजिटल रूप से या खाता विवरण के माध्यम से जांचा जा सकता है। मुख्य संतुलन की जांच करने के लिए, आपको निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना होगा।
    सबसे पहले आपको अपने संबंधित बैंक से अनुरोध करना होगा, उसके बाद यह आपको बैंक से लॉगइन क्रैडेंशियल्स देंगे।
    लेकिन याद रखें कि यह सेवा सभी बैंकों द्वारा प्रदान नहीं की जाती है, केवल कुछ ही बैंक अपने खाताधारकों को ऑफ़लाइन के माध्यम से सुकन्या समृद्धि खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देते हैं।
    लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्राप्त करने के बाद, अपने बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग ऑन करें।
    लॉग इन करने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा यहां आपको बैलेंस कन्फर्म करने के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
    क्लिक करने के बाद आपके सामने राशि संख्या खुल जाएगी।केवल इसी माध्यम से सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम व शर्तें

सुकन्या समृद्धि पैसे निकासी करने की स्थिति में -:

सुकन्या समृद्धि योजना खाते द्वारा पिछले वित्तीय वर्ष के अंतिम में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% हिस्से तक की निकासी की जा सकती है। यह निकासी केवल बालिका की शिक्षा हेतु की जा सकती है।

लाभार्थी खाते से निकासी एक साथ या फिर किस्तों में भी कर सकता है।
खाते की निकासी हेतु आयु -: यह निकासी केवल बालिका की 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर बालिका के दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद (दोनों स्थिति में से जो भी पहले हो) हेतु की जा सकती है।


सुकन्या समृद्धि खाते से संबंधित नियम व शर्ते

प्रीमेच्योर क्लोजर: आवेदक का सुकन्या समृद्धि खाते को समय से पहले अतः खाता खोलने के 5 साल बाद तक बंद कराया जा सकता है।

अभिभावक की मृत्यु: खाताधारक के अभिभावक (माता -पिता दोनों) जो खाते का संचालन करता है उन दोनों की मृत्यु हो जाए की स्थिति में भी यह धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।

खाता धारक की मृत्यु: यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो इस अवस्था में धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।
जानलेवा रोग की अवस्था में : यदि खाताधारक को किसी प्रकार का जानलेवा रोग हो गया है तो इस स्थिति में भी धारक का खाता बंद करवाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि के लाभ एव ब्याज, परिपक्वता, कर दरें से संबंधित नियम व शर्तें-

परिपक्वता आयु सीमा : खाता खुलने से 21 वर्ष के बाद या बालिका के विवाह के समय पर 18 वर्ष की आयु होने के बाद खाता परिपक्व हो जाएगा।

ब्याज की राशि: सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से ब्याज राशि वित्तीय वर्ष के अंत में खाते में जमा की जाएगी।

सफल आवेदन के सुकन्या समृद्धि खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जायेगा।
इंटरेस्ट रेट: सरकार द्वारा हर तीन माह के आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना दी जाएगी। जनवरी 2021 से मार्च 2021 के लिए इस योजना के माध्यम से इंटरेस्ट रेट 7.6 प्रतिशत है।

कर का फायदा : सेक्शन 80C के अंतर्गत, सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत किया गया निवेश कर मुक्त होगा। इस योजना के माध्यम से प्राप्त हुआ ब्याज तथा परिपक्वता राशि भी कर मुक्त होगी।

सुकन्या समृद्धि के लिए अधिकतम एवं न्यूनतम राशि जमा करने के नियम व शर्तें-

न्यूनतम खाता खोलने हेतु राशि: इस योजना हेतु न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है। न्यूनतम हर वर्ष निवेश करना अनिवार्य होगा: प्रत्येक वर्ष इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना अनिवार्य होगा।

डिफॉल्ट की स्थिति में : यदि खाताधारक द्वारा हर वर्ष न्यूनतम 250 रुपए का निवेश नहीं किया गया, तब इस स्थिति में खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा।

यदि खाता डिफॉल्ट हो गया है तो इस स्थिति में खाते में 250 रुपए की न्यूनतम राशि का भुगतान एवं 50 रुपए की पेनल्टी का भुगतान करके खाते को पुनः शुरू किया जा सकता है।

अधिकतम निवेश राशि: इस योजना के अंतर्गत अधिकतम 150000 रुपए तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।इस तय की गई राशि से अधिक राशि को का निवेश नहीं किया जा सकता।

खाता खोलने हेतु महत्वपूर्ण दस्तावेज: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने हेतु अभिभावक को form-1, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तथा अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना अनिवार्य होगा।

निवेश करने की अवधि सीमा :- इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की तिथि से अगले 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना नियम व शर्तें

खाता खुलवाने की हेतु आयु:- सुकन्या समृद्धि खाता के अंतर्गत बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।
खाते की संख्या:- एक बालिका हेतु केवल एक ही खाता इस योजना के माध्यम से खोला जा सकता है। इस योजना के माध्यम से एक बेटी हेतु माता द्वारा अलग तथा पिता द्वारा अलग खाता नहीं संचालित किया जा सकता।

परिवार के खाताधारकों की संख्या-: एक परिवार में केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ ले सकती हैं।जुड़वा बेटियों होने की स्थिति में एक परिवार की खाताधारक की संख्या: एक परिवार में जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है, तो इस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं।

खाते का संचालन:- खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक के माध्यम से संचालित किया जाता है।

Conclusion-

  • जेसा की आज हमने आपको इसकी सारी प्रक्रिया बताई है की केसे हम सुकन्या समृद्धि योजना क्या है, सुकन्या योजना फॉर्म online Apply, सुकन्या समृद्धि योजना क्या है, सुकन्या समृद्धि योजना में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, सुकन्या समृद्धि योजना में 1000 जमा करने पर कितना मिलेगा, सुकन्या योजना फॉर्म कैसे भरे, sukanya samariddhi yojana के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment