CIBIL score kya hota hai, CIBIL score कैसे चेक करें और अपना सिविल स्कोर बढ़ाये

आज हम यह जानेंगे के CIBIL score kya hota hai, CIBIL score registration के लिए दस्तावेज, civil score kaise check kare, Civil SCORE कितना होना चाहिए, Civil Score कौन जारी करता हैं, CIBIL score कैसे बनता है, CIBIL Score कैसे बढ़ाये के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

CIBIL score kya hota hai – सिविल स्कोर क्या है-

आज हम जानेंगे की civil score kya hota hai और भी सिविल स्कोर के बारे में आपको आगे बताने वाले है-

सिबिल एक कंपनी है जो बैंकिंग और फाइनेंस से जुड़े कस्टमर्स का क्रेडिट रिपोर्ट बताती है जिसका फुलफोर्म Credit Information Bureau India Limited(CIBIL) होता है।

दरअसल सिबिल सभी सरकारी , प्राइवेट बैंक और फाइनेंस कंपनियों का मेम्बर है ।इसलिए सिबिल सभी बैंकिंग और फाइनेंस कंपनियों का डाटा अपने पास रखती है ।

वैसे सिबिल के अलावा एक्विफाक्स (equifax) और एक्सपेरिएन (experian) कंपनी भी Credit Score बताती हैं लेकिन सबसे बड़ी और फेमस कंपनी CIBIL ही है।

आजकल मार्केट में बहुत सारी वेबसाइट्स जैसे paisabazaar, bankbazaar आदि, फ्री में सिबिल स्कोर बताती हैं लेकिन ये कभी भी खुद सिबिल स्कोर नही बताती हैं इनका experian और equifax जैसी कंपनियों के साथ टाईएफ होता है।

इन कंपनियों के पास सिबिल के इतना डाटा अवेलेबल नही होता है इसलिये इनका रिपोर्ट सिबिल के जितना ऑथेंटिक नही होता कुछ गलतियां भी हो सकती हैं ,लेकिन सिबिल की रिपोर्ट सबसे ज्यादा ऑथेंटिक मानी जाती है।

CIBIL score registration के लिए दस्तावेज-

व्यक्तियों के लिए:

  • पहचान प्रमाण (आधार कार्ड / पेन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / पासपोर्ट / वोटर आईडी कार्ड)
  • एड्रेस प्रूफ (बैंक पासबुक / बिजली बिल / टेलीफोन बिल)

कंपनियों के लिए:

  • एड्रेस प्रूफ- बैंक अकाउंट स्टेटमेंट,
  • बिजली बिल
  • और टेलीफोन बिल

CIBIL score कैसे चेक करें- civil score kaise check kare-

अब तक हमने जाना है की civil score kya hota hai लेकिन अब हम जानेंगे की civil score kaise check kare –

सिबिल स्कोर चेक करने के लिए CIBIL की ऑफिसियल वेबसाइट https://www.cibil.com/ पर जाना होगा।

CIBIL Score कैसे बढ़ाये
  • अगर CIBIL पर पहले से अकाउंट बनाया हुआ है तो Login करें
  • अन्यथा GET FREE CIBIL SCORE & REPORT पर क्लिक करें
  • अपना ईमेल एड्रेस और एक पासवर्ड टाइप करें
civil score kaise check kare
  • अपना पहला नाम ,अंतिम नाम एंटर करें और एक आईडी ( पैनकार्ड ,पासपोर्ट ,वोटर आईडी ,ड्राइविंग लाइसेंस या राशन कार्ड ) चुने और आईडी नंबर एंटर करें
civil score kya hota hai
  • डेट ऑफ़ बर्थ (जन्मतिथि ),पिनकोड और मोबाइल नंबर डालकर ACCEPT & CONTINUE पर क्लिक करें
  • अलटरनेट मोबाइल नंबर चुने और OTP डालकर कंटिन्यू करें
  • उसके बाद आपसे कुछ question भी पुछा जा सकता है उसका उत्तर दें और कंटिन्यू करें
  • जिस डिवाइस से सिबिल चेक कर रहे है आपकी है तो Yes करें और कंटिन्यू करें
  • उसके बाद GO TO dashboard पर क्लिक करें
  • आपका CIBIL स्कोर जनरेट हो जायेगा

Civil Score कौन जारी करता हैं – List of Credit Bureau’s-

भारत में अभी के समय 4 क्रेडिट एजेंसी हैं जो क्रेडिट स्कोर जारी करती हैं।

  1. CIBIL – यह कंपनी Transunion credit information Bureau (India) Ltd. हैं। यह भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा मान्यता प्राप्त एजेंसी हैं।

यह एजेंसी 2010 में स्थापित हुई थी। बैंकों द्वारा मुख्य रूप से CIBIL एजेंसी की रिपोर्ट ही प्रयोग में लाई जाती हैं। इस एजेंसी का क्रेडिट स्कोर सबसे विश्वसनीय माना जाता हैं।

CIBIL कंपनियों और अन्य Entities को भी स्कोर देती हैं जिसे “PERFORM” स्कोर के नाम से जाना जाता हैं।

  1. EQUIFAX – यह एजेंसी 2010 में लाइसेंस लेकर क्रेडिट एजेंसी के रूप में अस्तित्व में आई।
  2. Experian – यह कंपनी भी 2010 में ही स्थापित हुई थी।
  3. CRIF – यह एजेंसी भी भारत में क्रेडिट एजेंसी के रूप में कार्य करती हैं।

Civil Score कितना होना चाहिए?-

क्रेडिट स्कोर की रेंज 300 से 900 के बीच होती हैं। Credit Score जितना ज्यादा होता हैं उतना अच्छा माना जाता हैं। आमतौर पर 700 से ऊपर का सिबिल स्कोर अच्छा होता हैं।

750-900 – इस रेंज का क्रेडिट स्कोर सबसे बेस्ट माना जाता हैं। इस रेंज में क्रेडिट स्कोर होने का मतलब हैं की आपने पास्ट में अपने सभी dues का भुगतान समय से किया हैं।

इस Credit Score के साथ आपको सिक्योर्ड लोन्स के साथ-साथ unsecured loans मिलने में भी आसानी रहती हैं जैसे की पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड।

700-750 – इस रेंज का क्रेडिट स्कोर भी अच्छी repayment हिस्ट्री को दर्शाता हैं और अच्छा माना जाता हैं। लेकिन इस रेंज में सिबिल स्कोर होने पर बैंक आपकी क्रेडिट हिस्ट्री को ओर जांचने के लिए क्रेडिट एनालिसिस कर सकता हैं।

इस रेंज में आपका क्रेडिट स्कोर हैं तो repayments में थोड़ी और नियमितता लेकर आप अपना क्रेडिट स्कोर 750 से ऊपर ले जा सकते हैं।

550-700 – यह क्रेडिट स्कोर रेंज बताती हैं की वह व्यक्ति अपने पास्ट पेमेंट्स में अनियमित रहा हैं। कुछ बैंक्स इस क्रेडिट रेंज वाले व्यक्तियों को लोन या क्रेडिट कार्ड्स ऑफर नहीं करते हैं।

अगर कुछ बैंक ऑफर करते भी हैं तो वो सिक्योर्ड लोन ही होते है साथ में उनकी ब्याज दर ज्यादा हो सकती हैं।

300-550 – इस रेंज में क्रेडिट स्कोर poor माना जाता हैं। अपने देय भुगतान (due payments) को डिफ़ॉल्ट करने की स्थिति में इस प्रकार का क्रेडिट स्कोर रहता हैं।

इस प्रकार के CIBIL Score से बैंको से लोन और क्रेडिट कार्ड्स लेना काफी मुश्किल काम हो सकता हैं।

CIBIL score कैसे बनता है-

जब कोई कस्टमर किसी बैंक या फाइनेंसियल कंपनी से लोन लेता है ,ईएमआई कराता है या क्रेडिट कार्ड का इश्तेमाल करता है तो उस कर्ज को लेने और चुकाने से व्यक्ति का सिबिल स्कोर बनता है।

कर्ज लेने पर 20% ,कर्ज को सही वक्त से चुकाने पर 30% ,क्रेडिट एक्सपोजर पर 25% और सिक्योर्ड या अनसिक्योर्ड लोन पर 25% का क्रेडिट स्कोर बनता है।

अगर व्यक्ति किसी सामान या प्रापर्टी को गिरवी रखकर लोन लेता है तो उसे सिक्योर्ड लोन और बिना किसी सामान को गिरवी रखे लिए गए लोन को अनसिक्योर्ड लोन (Personal Loan) कहा जाता है।

CIBIL Score कैसे बढ़ाये – CIBIL Score in Hindi-

  1. अपने सभी dues का समय से भुगतान करें – अपने क्रेडिट कार्ड बिल और Loan EMI का समय पर भुगतान बहुत ही मायने रखता हैं। अगर आपका क्रेडिट स्कोर खराब है तो हो सकता हैं की आप अपने dues का समय से भुगतान नहीं करते हैं।

आप अपने पेमेंट का समय पर भुगतान करना चालू कर दें। इसके लिए आप बिल्स का रिमाइंडर भी सेट कर सकते हैं। आपको इसका बहुत ही जल्द सकारात्मक प्रभाव अपने क्रेडिट स्कोर पर दिखाई देगा।

  1. CIBIL Report में errors का ध्यान रखें – अपनी क्रेडिट रिपोर्ट को नियमित रूप से चेक करना बहुत जरुरी होता हैं। कई बार हो सकता हैं की आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में कोई error हो। ऐसी स्थिति में आपका क्रेडिट स्कोर डाउन हो सकता हैं।

अगर आपकी रिपोर्ट में भी कोई गलती हैं तो आप क्रेडिट ब्यूरो को इसकी जानकारी दे सकते हैं। आप इस लिंक के द्वारा CIBIL में कोई भी डिस्प्यूट को raise कर सकते हैं। Raise a Dispute – CIBIL

  1. हमेशा क्रेडिट कार्ड का पूरा भुगतान करें – कई बार हम क्रेडिट कार्ड का फुल पेमेंट नहीं करके बस minimum dues का ही भुगतान करते हैं। इससे आप क्रेडिट कार्ड की पेनल्टी से तो बच जाते हो परन्तु इससे क्रेडिट स्कोर कम होने का खतरा होता हैं।

इसलिए हमेशा due date पर फुल क्रेडिट कार्ड का पेमेंट करने की कोशिश करें। नियमित और फुल पेमेंट से कुछ ही समय में आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा दिखने लग जायेगा।

  1. क्रेडिट कार्ड की लिमिट का उपयोग – कभी भी अपनी क्रेडिट कार्ड की संपूर्ण लिमिट का प्रयोग करने से बचें। अगर आप अपनी पूरी क्रेडिट लिमिट को यूज कर लेते हैं तो ऐसा माना जाता है कि आपको कुछ वित्तीय समस्याओं का सामना करना पड़ रहा हैं।

कभी भी अपने क्रेडिट लिमिट की 30 से 50% से अधिक लिमिट का प्रयोग नहीं करना चाहिए। हो सके तो अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट को बढ़ाने का प्रयास जरूर करें।

  1. Guarantor या जॉइंट अकाउंट होल्डर बनने से बचे – अगर आप किसी के साथ जॉइंट अकाउंट होल्डर या लोन guarantor हैं और वे अपने लोन पेमेंट में डिफ़ॉल्ट करते हैं तो बैंक आपकी रिपोर्ट भी सिबिल को नेगेटिव भेज सकते हैं।
  1. क्रेडिट मिक्स – अच्छे क्रेडिट स्कोर के लिए सिक्योर लोन और अनसिक्योर्ड लोन का सही बैलेंस होना जरूरी है।
  2. मल्टीपल क्रेडिट कार्ड एप्लीकेशन नहीं करें – कम टाइम पीरियड में एक से अधिक क्रेडिट कार्ड और लोन एप्लीकेशन करने से बचना चाहिए। ज्यादा इंक्वायरी और एप्लीकेशन रिजेक्शन से क्रेडिट स्कोर पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के CIBIL score kya hota hai, CIBIL score registration के लिए दस्तावेज, civil score kaise check kare, Civil SCORE कितना होना चाहिए, Civil Score कौन जारी करता हैं, CIBIL score कैसे बनता है, CIBIL Score कैसे बढ़ाये के फायदे के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment