Nifty Kya Hai, Full Form, Nifty Kaise Kam Karti Hai और Nifty के फायदे , सावधानियां हिंदी में

आज हम यह जानेंगे के nifty kya hai, Nifty ka full form in Hindi, nifty me invest Kaise Kare, निफ्टी में निवेश करने से पहले की सावधानियां, NIFTY कैसे काम करती है, NIFTY kaise calculate ki jati hai, NIFTY से क्या फायदे हैं के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

nifty kya hai-

NIFTY दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है पहला national और दूसरा Fifty इससे यह साफ है कि निफ़्टी एनएससी पर सूचीबद्ध 50 प्रमुख शेयर पर आधारित index है। यह बाजार की गतिविधियों को बेहतर तरीके से प्रतिनिधित्व करती है।
Nifty एक (Stock Index) है। सरल शब्दों में कहें तो Nifty National Stock Exchange में Listed Top 50 Shares का एक Benchmark है और इसलिए यह इतना Important है।

nifty kya hai

Nifty की मदद से हम Stock market के बारे में ना केवल जान सकते है बल्कि इसकी मदद से हम Stock Market में होने बाली बडी हालचाल के बारे में भी आसानी से समझ सकते है।

Nifty Market की Condition के बारे में बताता है की आज market ऊपर जायेगा या नीचे Nifty की मदद से हम Stock Exchange में होने बाले परिवर्तन को भी बडी ही आसानी से देख सकते है और समझ सकते है की share bazar में क्या हालचाल है एवं आज बाजार कैसा रहेगा।

Nifty 50 में listed Top 50 Shares बडे ही important और Powerful होते है एवं जब इन shares में उतार चढ़ाब होता है तो इसका असार बाकी shares पर भी पडता है।

निफ्टी का फुल फॉर्म – Nifty ka full form in Hindi

Full Form of Nifty – निफ्टी का फुल फॉर्म National Stock Exchange है। निफ्टी शेयर बाजार में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला Investment Term है। निफ़्टी का हिंदी में फुल फॉर्म राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज ऑफ निफ्टी -50 है। इसमें 50 कंपनियां लिस्टेड होती हैं इसलिए इसको Nifty 50 भी कहा जाता हैै!

nifty me invest se pehle ki savdhaniyan-निफ्टी में निवेश करने से पहले की सावधानियां-

  • शेयर बाजार से शेयर खरीद कर उससे प्रॉफिट पाना इतना आसान भी नहीं है इसके लिए आपको प्रत्येक दिन मार्केट पर नजर रखनी पड़ती है।
  • शेयर बाजार में पैसा लगाने से पहले निफ़्टी की 50 कंपनियों के बारे में पूरी जानकारी एकत्र करना जरूरी है।
  • इससे मुतालिक जो न्यूज़ पेपर आते हैं उनका अध्ययन करें।
  • कंपनियों के बिजनेस प्लान को ध्यानपूर्वक पढ़ें।
  • हर रोज शेयर खरीदना और बेचना खतरनाक हो सकता है इससे आपको ज्यादा फायदा भी हो सकता है और ज्यादा नुकसान भी हो सकता है।
  • इसलिए लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करें उसमें नुकसान की आशंका कम रहती है।
  • जल्दबाजी में आकर किसी भी कंपनी का शेयर ना खरीदें हर कंपनी के बारे में विस्तार से पढ़िए और जो कंपनी ज्यादा अच्छा परफॉर्मेंस कर रही है उसी का शेयर खरीदें।
  • उन कंपनियों के शेयर खरीदे जिन कंपनियों के प्रोडक्ट ज्यादा बिकते हैं।
  • हमें यह देखना होगा कि रोजमर्रा के उपयोग में आने वाले प्रोडक्ट कौन सी कंपनी अधिक बनाती है जैसे शैंपू तेल बिस्कुट कुकिंग आयल साबुन और नूडल्स आदि।
  • शेयर खरीदने के बाद उसे बेचने में जल्दबाजी ना करें मिसाल के तौर पर किसी व्यक्ति ने किसी कंपनी का शेयर ₹500 का खरीदा तो आप पहले ही से इसका टारगेट प्राइस तय कर देंगे जैसे ₹500 का शेयर आपको ₹800 में बेचना है तो जैसै टारगेट प्राइस पर आएगा अपने आप बिक जाएगा और आप नुकसान से बच सकते हैं।
  • कभी भी किसी एक कंपनी के ज्यादा शेयर ना खरीदें जो टॉप की कंपनी हो सबके थोड़े-थोड़े शेयर खरीदने चाहिए ताकि अगर उनमें से कोई कंपनी नुकसान में भी है तो आपको ज्यादा नुकसान ना हो।
  • आर्थिक रूप से ज्यादा मजबूत कंपनी को ही चुने जिनके बारे में आप जानकारी रखते हो और अलग-अलग सेक्टरों में इनवेस्ट करें।

निफ्टी में निवेश कैसे करें – nifty me invest kaise kare-

निफ्टी में निवेश करने के लिए निम्न चरणों का पालन करें –

  • सबसे पहले किसी अच्छे स्टॉक ब्रोकर से अपना एक Demat Account खुलवाएं. आप Upstox App और Groww App जैसे डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर से अपना डीमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं.
  • जब आप अपना डीमैट अकाउंट खुलवा लेते हैं तो ब्रोकर आपको ट्रेडिंग करने के लिए प्लेटफार्म प्रदान करवाते हैं.
  • ट्रेडिंग प्लेटफार्म में निफ्टी इंडेक्स फंड को सेलेक्ट करें.
  • इसके बाद निफ्टी इंडेक्स फंड में निवेश करना शुरू करें.
  • निफ्टी में निवेश करने से पहले निफ्टी इंडेक्स फण्डके रिकॉर्ड, ट्रैक इत्यादि का पर्याप्त विश्लेषण जरुर कर लें. इस प्रकार से आप निफ्टी में निवेश कर सकते हैं.

NIFTY कैसे काम करती है?-

NIFTY में भारत के 50 बड़ी कंपनियां जिनका मार्केट कैपिटल बहुत बड़ा होता है, उन्हें निफ्टी में सूचीबद्ध किया जाता है।

जैसा कि हमने ऊपर बताया इन बड़ी कंपनियों के शेयर पर तेजी या मंदी भारतीय अर्थव्यवस्था को भी दर्शाती है।यह 50 कंपनियां अपने क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों में से एक होती है।

इनका market capitalisation पूरे शेयर मार्केट का 60% होता है। इनकी गणना भी ठीक उसी तरह से की जाती है जिस तरह से SENSEX की गणना floating capitalisation के method से किया जाता है।

Note:- Floating capitalisation एक प्रकार का तरीका है। जोकि किसी भी कंपनी के कैपिटल का वह भाग होता है जिसे पब्लिक के ट्रेडिंग के लिए मार्केट में उपलब्ध कराया जाता है।

Note:- Market capitalisation किसी भी कंपनी का मार्केट capitalisation निकालने के लिए हम उसके कुल शेयर को उसके बाजार में मौजूद शेयर के भाव से गुणा करते हैं।

उदाहरण के तौर पर अगर किसी कंपनी के कुल शेयरों की संख्या दस 10,000 है, और उस कंपनी के बाजार पर मौजूद share की संख्या 4000 है।

और प्रत्येक शेयर की कीमत रु 100 है। तो, उस कंपनी का market capitalisation निकालने के लिए हम कुल शेयरों को उसके वर्तमान कीमत से गुणा करते हैं। हमारे इस उदाहरण की स्थिति में 10,000×100= ₹10,00,000 होता है।

NIFTY kaise calculate ki jati hai-

Nifty कि गणना के लिए कुछ मापदंड तैयार किए गए हैं। जिसके आधार पर ही निफ्टी की गणना की जाती है। जैसे कि

  • निफ़्टी की गणना के लिए आधार वर्ष 1995 है।
  • इसका आधार अंक 1000 होता है।
  • निफ्टी की गणना NSE में सूचीबद्ध सबसे सक्रिय कारोबार करने वाले 50 कंपनियों का share के आधार पर की जाती है।
  • 24 शीर्ष क्षेत्रों में से 50 शीर्ष स्टॉक चुने जाते हैं।
  • निफ़्टी में 50 शेयरों का चयन इस मापदंड पर किया जाता है जिस तरह से मुंबई स्टॉक एक्सचेंज द्वारा अपनाई गई पद्धति के ठीक समान होती है।
nifty me invest kaise kare

NIFTY से क्या फायदे हैं?

NIFTY के कई सारे फायदे हैं। लेकिन हम यहां पर इनमें से कुछ प्रमुख फायदे के बारे में ही जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं। जो कि इस प्रकार है:-

  • NIFTY की सहायता से हम यह आसानी से जानकारी ले सकते हैं कि हमारा शेयर बाजार किस तरह से performance कर रही है।
  • National Stock Exchange (NSE) पर उतार चढ़ाव या तेजी या मंदी के बारे में हम जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • NIFTY के माध्यम से उस में होने वाले तेजी या मंदी की सहायता से हम यह जानकारी एकत्रित कर सकते हैं कि हमारी अर्थव्यवस्था किस तरह से चल रही है।
  • यदि NIFTY पर सूचकांक तेजी से ऊपर चढ़ता है, तो हम यह अंदाजा लगा सकते हैं कि हमारी अर्थव्यवस्था पर भी तेजी छाई हुई है। यानी की अर्थव्यवस्था ऊपर की ओर जा रही है। What is NIFTY in Hindi
  • NIFTY के सूचकांक पर मंदी यानी कि वह नीचे की तरफ गिरता है तो यह भी दर्शाता है कि हमारी अर्थव्यवस्था नीचे की ओर जा रही है।

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के nifty kya hai, Nifty ka full form in Hindi, nifty me invest Kaise Kare, निफ्टी में निवेश करने से पहले की सावधानियां, NIFTY कैसे काम करती है, NIFTY kaise calculate ki jati hai, NIFTY से क्या फायदे हैं के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment