<

Input Device Kya Hai और कितने प्रकार के होते है, 15 इनपुट डिवाइस से जुडी जानकारी.

आज हम जानेंगे की Input Device Kya Hai, Input Device ke Prakar, Input Device Kya kam karta hai, or और सभी Input Device ke name in Hindi जिसकी पूरी प्रोसेस हम Step By Step Process आपको बताने वाले है

Input device kya hai ?- (what is input device ?)

Input device kya hai उससे पहले हमे इनपुट का अर्थ जानना होगा – Input का अर्थ निविष्ट या निवेश करना होता है। यानी जब हम किसी में निवेश या निविष्ट करते हैं। तब उसे Input कहेंगे। इसी प्रकार Computer में जब संसाधन के लिए Data या Information देते हैं।

तब उसे भी Input कहते हैं। Computer को संचालित करने के लिए सर्वप्रथम क्रिया Computer को Input करना होता है। जिसका मतलब है कि Computer को कुछ Data या Information देना। जिसमें Computer को निर्देश देना या कमांड देना भी शामिल है।

इनपुट उपकरणों का प्रयोग कंप्यूटर में आँकड़ें डालने के लिए किया जाता है । इनपुट डिवाइस एक उपकरण है जो कंप्यूटर को इनपुट प्रदान करता है ।

की-बोर्ड सबसे अधिक प्रचलित इनपुट उपकरणों में से एक है जिसका प्रयोग कंप्यूटर में आंकड़े डालने और निर्देश देने के लिए किया जाता है ।

किसी भी कंप्यूटर सिस्टम के लिए एक keyboard सबसे मौलिक इनपुट डिवाइस है । कंप्यूटिंग के शुरुआती दिनों में, यह आमतौर पर केवल इनपुट डिवाइस था ।

एक keyboard में अक्षरों(letters) और संख्याओं(numbers) के साथ-साथ विशेष कार्य के लिए Key भी शामिल है, जैसे कि एंटर (Enter), डिलीट(Delete), आदि ।

Input device computer का हार्डवेयर कंपोनेंट है जिसके जरिए हम कंप्यूटर के साथ संपर्क करके उसे कंट्रोल करते हैं। इनपुट डिवाइस के मदद से ही हम कंप्यूटर को कुछ अनुदेश देते हैं.

तब जाकर कंप्यूटर कुछ एक्शन लेता है जैसे कीबोर्ड से टेक्स्ट डाटा इनपुट करना, माउस से आइकन को सेलेक्ट करना इत्यादि।

Input Device kya kam karta hai-

Input device kya hai जानने के बाद अब हम जानेंगे की कैसे इनपुट डिवाइस कार्य करते है .Input Device का मुख्य कार्य Computer को Input देना होता है। चाहे वह किसी भी तरह से हो। सामान्यतः वह Input सबसे पहले Computer Memory में जाती है।

जिसके बाद Central Processing Unit के द्वारा उस Input का Process किया जाता है। तत्पश्चात Output प्राप्त होता है। ये भी कह सकते हैं कि Input Device का कार्य हमारे निर्देश (Instructions) को इलेक्ट्रिक पल्स में बदलना होता है। जिसे Binary Digits से व्यक्त करते हैं।

उदाहरण के लिए जब हम Keyboard की सहायता से कुछ लिखते हैं। तब Keyboard पर दबाए गए प्रत्येक बटन Electric Signal Computer को देता है और इसी तरह Keyboard से Computer को Input प्राप्त होता है और अपना कार्य करता है।

input device ke prakar- (इनपुट डिवाइस कितने प्रकार के होते है)

  • Mouse
  • Keyboard
  • Joystick
  • Trackball
  • Scanner
  • Microphone
  • Barcode Reader
  • Drawing/graphic Tablet
  • Light pen
  • Webcam
  • O.M.R
  • O.C.R
  • M.I.C.R
  • CAMERAS
  • A.T.M

Input Devices ke name-

यहाँ हमने प्रमुख Input Device के नाम बताया है। इसे आप Input Device का उदाहरण भी कह सकते हैं। लेकिन बहुत सारे Input Device के उदाहरण को Input Device का प्रकार समझते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। चलिए Input Device के नाम हिंदी में जानते हैं।

1. Keyboard-(कीबोर्ड)

INPUT device kya hai key

Keyboard एक Input Device है। इसके द्वारा कंप्यूटर को Text या Characters के रूप में Instructions दिया जाता है। Keyboard आकार में आयताकार होता है। इसमें लगलगभ 108 कुंजी होती है। Keyboard में हर प्रकार की कुंजी होती है। जिससे कंप्यूटर को आसानी के साथ कुछ Type कर सकते हैं।

Keyboard कई प्रकार के होते हैं लेकिन कीबोर्ड में मौजूद Keys के पोजीशन और उनकी संख्या के अनुसार 3 प्रकार के कीबोर्ड मौजूद हैं QWERTY, AZERTY, और DVORAK कीबोर्ड.

सामान्य Keyboard में कुल 104 Keys होती है. तथा इनकी संख्या Keyboard Manufactures और Operating System पर भी निर्भर करती है. इसलिए मोटे तौर पर हम कह सकते है कि एक QWERTY Keyboard में लगभग 100 Keys (±) होती है.

कीबोर्ड में मौजूद प्रत्येक कुंजी का अपना विशेष कार्य होता है. और इसी कार्य के आधार पर इनको निम्न छह श्रेणीयों में बाँटा गया है. जिनका वर्णन इस प्रकार है.

  1. Function Keys
  2. Typing Keys
  3. Control Keys
  4. Navigation Keys
  5. Indicator Lights
  6. Numeric Keypad

2. Mouse-(माउस)

mouse ke button (1)

Mouse एक सबसे पोपुलर Pointer Device है। इसका प्रयोग कंप्यूटर में चित्र, ग्राफिक्स बनाने तथा तथा किसी बटन या मेनू पर क्लिक करने के लिए किया जाता है। Mouse में दो या तीन तरह के बटन होते है। input device kya hai यह एक ग्राफिकल यूजर इंटरफ़ेस डिवाइस है.

जिससे Computer को निर्देश दिया जाता है। Mouse की सहायता से बिना किसी की-बोर्ड के भी कंप्यूटर को निर्देश दे सकते हैं। अर्थात Mouse Keyboard का भी कार्य कर सकता है।

कंप्यूटर स्क्रीन पर Pointer को Move करने के लिए Mouse को हिलाना होता है।

इसके निचे एक rubber का ball या Laser Light लगा रहता है. जब mouse को किसी सतह पर हिलाया जाता है तो यह rubber का ball घूमता है या Laser Light Move करता है.

उसकी गति और दिशा monitor पर mouse pointer की गति और दिशा में परिवर्तित हो जाती है कुछ इस तरह से Mouse काम करता है.

3. Scanner-(स्केनर)-

input ke prakar

Scanner भी एक Input Device है। इसके द्वारा पेपर जैसी वस्तु जैसे; डॉक्युमेंट, चित्र, लेख और खुद पेपर को भी स्कैन कर के डिजिटल रुप में बनाया जाता है।

इसे कंप्यूटर में लंबे समय तक कंप्यूटर में डिजिटल रुप में रख सकते हैं। आज कल इसका उपयोग Book को e-book बनाने के लिए अधिक किया जा रहा है।

Scanner एक shining Light को Document के उपर डालता है. जो light reflect होक एक Document की Image बनाती है और यह light photo Sensitive Element में रहता है.

एक Device है जिसका नाम है Charged Couple Device यह charged light को Digital Image बनाके Computer के अंदर Store करता है. Print करने से पहले Document को Edit भी कर सकते हैं.

4. Microphone-(माइक्रोफोन)

input ke name 2

Microphone को ही आम भाषा में माइक बोलते हैं। यह ध्वनि तरंगों को इलेक्ट्रिकल संकेत में बदल देता है। इसका इस्तेमाल मुख्यतः भाषण देने के लिए, आवाज रिकॉर्ड करने के लिए, रेडियो प्रसारण में, टेप रिकार्डर आदि के रुप में किया जाता है।

इनका application बहुत ज्यादा है Video Recording, Movies बनाने में इन Microphone का बहुत योगदान है. Sound को Receive करता है Digital Signal में Convert करता है और Speaker के जरिये Output भी करता हैं.

5. Joystick-(जॉयस्टिक)

INPUT device kya haijoy

Joystick का प्रयोग अक्सर बच्चो के द्वारा गेम खलने के लिए किया जाता है। यह भी एक Input Device है और यह आमतौर पर कंप्यूटर को कोण या दिशा का निर्देश देती है।

इसमें एक या एक से अधिक नियंत्रण करने के लिए बटन भी दिए होते हैं। इसका उपयोग बड़े लोग भी करते हैं। क्योंकि इससे गेम खेलने में आसानी होती है और बिना किसी कंप्यूटर के जानकारी के भी कंप्यूटर में गेम खेल सकते हैं।

इसका उपयोग video games खेलने, CAD Design व् simulator प्रशिक्षण आदि में किया जाता है. जब हम इसे Left में Move करते हैं तो अंदर से Right की और Move करता है. उपर वाला ball Direction के लिए किया जाता है और अंदर का ball, Socket में Move करता है.

6. WebCam-(वेब कैम)

input ke name

Web Camera को ही वेबकैम बोलते हैं। यह एक प्रकार का कैमरा ही है। जो कंप्यूटर हार्डवेयर के अंतर्गत आता है। यह एक Input Device है। जो चित्र या विडियो को डिजिटल रुप में बनाता है।

इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से विडियो रिकॉर्ड करने या लाइव विडियो स्ट्रीमिंग के लिए किया जाता है।

Webcam एक हार्डवेयर इनपुट टूल होता है। इससे किसी व्यक्ति की इमेज या वीडियो बनाई जा सकती है। इसके सामने आने पर यह कार्य करता है यदि आप लैपटॉप का इस्तेमाल करते है तो आपके लैपटॉप में कैमरा ज़रुर होगा। अधिकतर लैपटॉप में Webcam साथ में लगे हुए आते है।

लेकिन जो डेस्कटॉप कंप्यूटर होता है उसमें किसी प्रकार का कोई कैमरा नहीं होता। उसके लिए हमें अलग से कैमरा खरीदना पड़ता है और उसे डेस्कटॉप कंप्यूटर के उपर लगाना होता है।

इसे Small Capital Digital Camera भी कहा जाता है। यह आपको अपनी फ़ोटो या वीडियो बनाने की सुविधा देता है।

7. Touchscreen-(टच स्क्रीन)

input device kya kam karta hai

टच स्क्रीन (Touch Screen) एक Input Device है, इसमें एक प्रकार की Display होती है| जिसकी सहायता से User किसी Pointing Device की वजह अपनी अंगुलियों को स्थित कर स्क्रीन पर मेन्यू या किसी ऑब्जेक्ट का चयन करता है|

किसी User को कंप्यूटर की बहुत अधिक जानकारी न हो तो भी इसे सरलता से प्रयोग किया जा सकता है | टच स्क्रीन (Touch Screen) का प्रयोग आजकल रेलवेस्टेशन, एअरपोर्ट, अस्पताल, शोपिंग मॉल, ए.टी.ऍम. इत्यादि में होने लगा है |

Touchscreen एक Pointing इनपुट डिवाइस है। इसका उपयोग कंप्यूटर को स्थान निर्देश करने के लिए किया जाता है। इसे स्पर्श कर के डाटा भरा जाता है।

कंप्यूटर के किसी स्थान को नियंत्रित करने के लिए Touchscreen का इस्तेमाल कर सकते हैं। कंप्यूटर में माउस के प्रत्येक कार्य को Touchscreen कर सकता है। आज इसका प्रयोग काफी बढ़ गया है। इसे मुख्यतः स्मार्टफोन, एटीएम, कंप्यूटर और लैपटॉप इत्यादि में किया जाता है।

8. Light Pen-(लाइट पेन)

input ke prakar light

Light Pen Touchscreen के समान एक Input Device है। यह एक छड़ी की तरह होता है। इसका उपयोग स्क्रीन पर प्रदर्शित टेक्स्ट या डेटा को सेलेक्ट करने या संशोधित करने के लिए किया जाता है। इसका प्रयोग कंप्यूटर पर फोटोग्राफी में भी किया जाता है।

जब Light Pen को Screen के उपर Move किया जाता है और Pen Button को Press किया जाता है. तो तब Photocell Screen के Location को Detect करती है और उस Location के Corresponding Signal को CPU के पास भेज देता है. कुछ इस तरह काम करता है.

9. BarCode Reader-(बार कोड रीडर)

INPUT device kya hai barcode

BarCode Reader एक इनपुट डिवाइस है। इसका उपयोग किसी वस्तु के BarCode को रीड करना है। बार कोड रीडर में लेजर बीम का प्रयोग होता है। जिससे बार कोड रीडर परावर्तित किरणों के द्वारा बार कोड के डेटा को कंप्यूटर में डालता है।

बार कोड रीडर भी input device है इसका इस्तेमाल किसी बार कोड को रीड करने में किया जाता है, आपने देखा होगा product के प्लास्टिक बैग के ऊपर बार कोड होता है,

जिसे हम अपने Bar-code Reader Machine से scan कर उसकी सभी जानकारी ले सकते है जो उस बार कोड में छिपा हो.

10. O.M.R-(ओ.एम.आर)

Full Form of O.M.R.- Optical Mark Reader

input ke prakar omr

आपने किसी परिक्षा में ओ.एम.आर शीट का नाम सुना ही होगा। किसी परिक्षा में ओ.एम.आर शीट का प्रयोग वैकल्पिक प्रकार के प्रश्न के उत्तर देने के लिए होता है।

ओ.एम.आर का उपयोग इन्हीं ओ.एम.आर शीट को स्कैन कर के जाँचने के लिए किया जाता है। ओ.एम.आर (O.M.R) का पूरा नाम ऑप्टिकल मार्क रीडर (Optical Mark Reader) होता है।

OMR के माध्यम से ओएमआर शीट को स्कैन किया जाता है। ओएमआर शीट को लेजर लाइट के माध्यम से डाटा एंट्री की जाती है।

ओएमआर शीट में जो आपने काले घेरे किए होते हैं वहां से लेजर की मात्रा कम वापस आती है और जहां पर आपने गोले को काला नहीं किया हुआ है, वहां से लेजर की मात्रा ज्यादा वापस आती है।

इस प्रकार ओएमआर स्कैनर आप की ओएमआर शीट का डाटा इनपुट करता है और आपके दिए हुए जवाबो को पहचान लेता है। ओएमआर का इस्तेमाल सिर्फ परीक्षाओं में नहीं होता है बल्कि कई और जगह पर भी ओएमआर का इस्तेमाल डाटा कलेक्शन के लिए किया जाता है।

11. O.C.R-(ओ.सी.आर)

Full Form of OCR- Optical Character Recognition

ओ.सी.आर (O.C.R) का पूरा नाम Optical Character Recognition होता है। इसका उपयोग विशेष प्रकार के चिन्ह, अक्षर, नंबर या चित्र को पढ़ने व समझने में सक्षम होता है।

OCR या Optical Character Recognition, एक तकनीक है जो आपको विभिन्न प्रकार के डयॉक्‍युमेंटस् को कन्‍वर्ट करना एनेबल करती है। इस टेक्‍नोलॉजी से स्कैन किए गए पेपर डयॉक्‍युमेंटस्, पीडीएफ फाइलें या एक डिजिटल कैमरे से लिए गए इमेजेस को एडिट और सर्च करने योग्य डेटा में कन्‍वर्ट किया जा सकता हैं।

इस तकनीक का उपयोग विभिन्न प्रकार के पेपर डेटा रिकॉर्ड से डेटा एंट्री के लिए व्यापक रूप से किया जाता है। इसे चालान, पासपोर्ट डयॉक्‍युमेंट बिज़नेस कार्ड, लेटर्स या प्रिंटआउट को डिजिटाइज़ करने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं।

जब टेक्‍स्‍ट को डिजिटाइज़ किया जाता है, तो इसे इलेक्ट्रॉनिक रूप से सर्च और एडिट किया जा सकता है, अधिक कॉम्पैक्टली स्‍टोर किया जाता है, और ऑनलाइन डिस्‍प्‍ले किया जा सकता है।

यह टेक्स्ट-टू-स्पीच, मशीन ट्रांसलेशन और टेक्स्ट माइनिंग जैसे मशीन प्रोसेस में डेटा के उपयोग को एनेबल बनाता है।

12. M.I.C.R-(एम.आई.सी.आर)

Full Form of M.I.C.R– Magnetic Ink Character Recognition

INPUT device kya hai micr

मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकग्निशन (Magnetic Ink Character Recognition) यानी वह जो कैरेक्टर लिखे जाते हैं वह मैग्नेटिक इंक से लिखे जाते हैं जिन्हें एमआईसीआर रीडर डिटेक्ट कर लेता है.
(MICR) एक कैरेक्टर रिकग्निशन (Character recognition) तकनीक पर आधारित चेक को प्रोसेस करने वाली डिवाइस होती है इसमें एक स्केनर लगा होता है जो कि चेक पर प्रिंटेड मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर कोड पढ़ लेता है एमआईसीआर एनकोडिंग को एमआईसीआर लाइन भी कहा जाता है.

यह चेक के निचले हिस्से में होती है बैंकों द्वारा इस MICR CODE का उपयोग चेक पास करने में किया जाता है, MICR CODE के जरिये चेक की सुरक्षा बढ़ जाती है. MICR Code को पढने के लिए MICR reader का उपयोग किया जाता है.

13. TRACBALL-(ट्रैकबॉल)

mouse kya hai-trackball (1)

ट्रैक बोंल एक Pointing input Device है| जो माउस (Mouse) की तरह ही कार्य करती है| इसमें एक उभरी हुई गेंद होती है तथा कुछ बटन होते है|

सामान्यतः पकड़ते समय गेंद पर आपका अंगूठा होता है तथा आपकी उंगलियों उसके बटन पर होती है| स्क्रीन पर पॉइंटर (Pointer) को घुमाने के लिये अंगूठा से उस गेंद को घुमाते है ट्रैकबोंल (Trackball) को माउस की तरह घुमाने की आवश्यकता नहीं होती इसलिये यह अपेक्षाकृत कम जगह घेरता है| इसका प्रयोग Laptop, Mobile तथा Remold में किया जाता हैं|

14.CAMERA-(कैमरा)

input ke prakar camera

कैमरा एक Electronic Device है जिसमें एक प्रकाश के प्रति संवेदनशील तत्व (Photosynthesis Element) जैसे फिल्म या डिजिटल सेंसर का उपयोग करके दृश्य को कैद किया जाता है।

कैमरा ऐसी वस्तु की फोटो खींच सकता है जिससे प्रकाश की किरणें निकलती हैं। जैसे हमारी आंखें काम करती है हम उसी वस्तु को देख सकते हैं जिस पर से कोई प्रकाश टकराकर हमारी आंखों पर पड़ती है।

जब प्रकाश लेंस में प्रवेश करता है तो उसमें लगे एक परावर्तक (जो 45 डिग्री पर रखा होता है) द्वारा परिवर्तित कर के ऊपर लगे एक Pentaprism की ओर मोड़ देता है। इसके बाद Pentaprism प्रकाश को सीधा करके बाहर लगे View Finder पर डाल देता है।

अब हम जैसे ही Shutter Button को दबाते हैं। तभी Mirror और फिर Shutter का पर्दा उठ जाता है। जिससे प्रकाश सीधे Image Sensor पर पड़ती है और फोटो खींची जाती है। इसके बाद Shutter नीचे गिर जाता है।

15. ATM-(ए.टी.एम.)

Full Form of A.T.M – Automatic Tailor Machine

input device kya kam karta hai atm

ए.टी.एम (A.T.M) का पुरा नाम Automatic Tailor Machine है। यह एक ऐसा उपकरण है जिसके द्वारा हम 24 धंटो में कभी भी अपने ए.टी.एम कार्ड के द्वारा पैसे निकाल सकते हैं।

इसका उपयोग पैसे निकालने के लिए मुख्य रूप से बैंक में, मॉल में, रेलवे स्टेशन तथा हवाई अड्डे इत्यादि जैसी जगहों पर किया जाता है।

एटीएम एक तरह का डाटा टर्मिनल (Data Terminal) होता है, जिसमें मोनीटर, की-बोर्ड माउस जैसे इनपुट और आउटपुट डिवाइस होते हैं। यह होस्ट प्रोसेसर (Host Processor) से जुड़ा होता है,

जो बैंक और एटीएम के बीच कड़ी का काम करते हैं। इसके लिये इंटरनेट की मदद ली जाती है। इससे यूजर के एटीएम में एटीएम कार्ड डालते ही बैंक के होस्ट प्रोसेसर से जुड़ जाता है। ऐसे में वह बिना बैंक जाए ही अपने खाते से पैसा निकाल सकता है।

Conclusion-

  • जेसा की आज हमने आपको Input Device Kya Hai इसकी सारी प्रक्रिया बताई है की केसे हम Input Device Kya Hai, Input Device Ke Prakar Ke Hote Hain, Input Device Kya Kam Karta Hai, Input device ke name के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment