<

Hardware Or Software Kya Hai, Software Ke Prakar, सॉफ्टवेयरऔर हार्डवेयर से जुडी जानकारी,

आज हम जानेंगे की Software Kya Hai, software kitne prakar ke hote hai,Hardware kya hai, Hardware kitne prakar ke hote hain, Software or Hardware me kya antar hota hai जिसकी पूरी प्रोसेस हम Step By Step Process आपको बताने वाले है.

Software Kya Hai-(सॉफ्टवेर क्या है)-

सॉफ्टवेयर निर्देशों का एक समूह अथवा Program है, जिसका उपयोग Computer को संचालित करने और कुछ विशिष्ट कार्यो को निष्पादित करने के लिए किया जाता है। आमतौर पर इस शब्द का इस्तेमाल कंप्यूटर में चलने वाले Applications के लिए करते है। Software कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग है, इसके बिना अधिकांश कंप्यूटर बेकार है।

सॉफ्टवेयर Computer का वह Part होता है जिसको हम केवल देख सकते हैं और उस पर कार्य कर सकते हैं, Software का निर्माण Computer पर कार्य करने को Simple बनाने के लिये किया जाता है.

आजकल काम के हिसाब से Software को बनाया  जाता है|बडी बडी कंपनी, उपभोक्तओं या यूजर की आवश्यकता को ध्‍यान में रखकर कंप्यूटर  Software को Software programmers द्वारा तैयार कराती हैं|

 इसमें से कुछ free में उपलब्‍ध होते है तथा कुछ के लिये चार्ज देना पडता है। जैसे आपको फोटो से सम्‍बन्धित कार्य करना हो तो उसके लिये फोटोशॉप या कोई वीडियो देखना हो तो उसके लिये मीडिया प्‍लेयर का यूज करते है।

software ki aavashyakta kyo padi- (सॉफ्टवेर की आवश्यकता क्यों पड़ी)-

Computer, Hardware और Software का समूह है यदि इसमें से Software को निकाल दिया जाये तो Computer एक डिब्बे के समान रह जायेगा यह डिब्बा उस समय तक कार्य नहीं कर सकता जब तक कि इसमें Operating System Software load न किया जाये|

इसका अर्थ यह है कि Computer में कुछ भी कार्य करने के लिए Operating System Software का होना आवश्यक है| हमें आपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर के आलावा कुछ और सॉफ्टवेयर्स की भी आवश्यकता पड़ती हैं|

उदाहरण के लिए,

  • Presentation बनाने के लिए
  • Data को manage करने के लिए
  • Internet का प्रयोग करने के लिए
  • Computer चालू करने के लिए
  • लेटर टाइप करने के लिए
  • चार्ट को तैयार करने के लिए

यदि आप एक पत्र को टाइप करना अथवा ग्राफिक चार्ट निर्मित करना या एक प्रस्तुतीकरण का निर्माण करना या अपने कार्यालय सम्बन्धी व्यक्तिगत डाटा का प्रबंधन करना चाहते है तो आपको फिर से अलग-अलग उद्देश्यों के लिए कई अलग-अलग सॉफ्टवेयरों की आवश्यकता पड़ेगी जिन्हें अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर (Application Software) कहा जाता है |

इसके अतिरिक्त यदि आपका कम्प्यूटर वायरस से संक्रमित हो जाये तो आपको यूटिलिटि नामक सॉफ्टवेयर की आवश्यकता पड़ेगी|संक्षेप में यदि आपके पास कम्प्यूटर सिस्टम है तथा आप निर्विघ्न कार्य करना चाहते है, तो आपको समय-समय पर सॉफ्टवेयर की आवश्यकता पड़ेगी |

software ke prakar-(software kitne prakar ke hote hai)-

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं; एप्लिकेशन सॉफ्टवेयरसिस्टम सॉफ्टवेयर और यूटिलिटी सॉफ्टवेयर

1.Application Software Kya Hai- (एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर)-

एप्लिकेशन ऐसे प्रोग्राम होते हैं जो एक विशिष्ट कार्य या संबंधित कार्यों का एक सेट करते हैं, और इसे अक्सर कंप्यूटर के साथ खरीदा जाता है जब इसे खरीदा जाता है।Application Software वे Software होते है जो User तथा Computer को जोड़ने का कार्य करते है|

Application Software Computer के लिए बहुत उपयोगी होते है यदि कंप्यूटर में कोई भी Application Software नहीं है तो हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते है Application Software के बिना कंप्यूटर मात्र एक डिब्बा हैं| Application Software के अंतर्गत कई Program आते है जो निम्नलिखित हैं|

application software kya hai (1)
  • MS word
  • MS Excel
  • MS PowerPoint
  • MS Access
  • MS Outlook
  • MS Paint etc.

2. systme Software Kya Hai -(सिस्टम सॉफ्टवेयर):-

सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम के अलग-अलग हिस्से होते हैं जो कंप्यूटर को ऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर और उपयोगिताओं जैसे कार्य करने की अनुमति देते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर System Software एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो हार्डवेयर (Hardware) को प्रबंध (Manage) एवं नियंत्रण (Control) करता है ताकि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) अपना कार्य पूरा कर सके | यह कम्यूटर सिस्टम का आवश्यक भाग होता है आपरेटिंग सिस्टम इसका स्पष्ट उदाहरण है |

system software kya hai (1)
  • Operating System Software
  • Compiler Software
  • Interpreter Software
  • Assembler Software
  • Linker Software
  • Loader Software
  • Debugger etc.

3.Utility software Kya Hai- (यूटिलिटी सॉफ्टवेयर):

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर उत्पादकता उपकरण हैं जो विशिष्ट कार्यों या कार्यों के सेट को आसान बनाने में मदद करते हैं जैसे वर्ड प्रोसेसिंग, स्प्रेडशीट प्रोग्राम, डेटाबेस प्रबंधन और फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर।

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर के प्रकार जैसे-

utility software kya hai ft (1)
  • Disk Defragmenter
  • System Profilers
  • Virus Scanner
  • Anti virus
  • Disk Checker
  • Disk Cleaner etc.

hardware kya hai-(हार्डवेयर क्या होता है)-

हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर से बिल्कुल भिन्न है। लेकिन यह बात भी सच है, कि यह एक दूसरे के बिना किसी काम के नही है। असल मे Hardware कंप्यूटर के एक तरह के कार्य को करते है, और सॉफ्टवेयर दूसरे तरह के इसीलिये एक की अनुपस्थिति में दूसरा किसी काम का नही रह जाता कंप्यूटर के फिजिकल पार्ट्स जिन्हें हम देख व छू सकते है Hardware कहलाते है।

किसी भी हार्डवेयर के बिना, आपका कंप्यूटर मौजूद नहीं है, और इसके बिना नाही आप कोई सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते है. अगर SW Computer की आत्मा है तो फिर आपका शारीर Computer का Hardware है. परंतु हकीकत में Hardware से कुछ भी कार्य करवाने के लिए हम Software का उपयोग करते हैं.

आगर आपको Computer में गाना सुनना है, तो एसा नहीं की आप Computer को बोलोगे और गाना Play हो जाएगा. इसके लिए Windows Media Player या VLC (ये दोनों सॉफ्टवेर हैं) में जब गाना Paly करोगे तभी वो Speaker पे वो गाना PLAY होगा. मतलब hw को sw के माध्यम से नियंत्रण किया जाता है.

उदाहरण के लिये Keyboard, Mouse, Monitor, Printer, and Motherboard etc. सभी Computer Hardware है। असल मे हार्डवेयर एक सामूहिक शब्द है, जिसका उपयोग Computer Parts का वर्णन करने के लिए किया जाता है। हार्डवेयर को आमतौर पर किसी भी कमांड या निर्देशों (Instructions) को ए᠎̮क्सिक्‍यूट्‌ करने के लिये Software द्वारा निर्देशित किया जाता है।

हार्डवेयर (HW) के बिना कंप्यूटर का कोई अस्तित्व नही है। क्योंकि इनके मिलने से ही एक कंप्यूटर पूर्ण हो पाता है। इसका एक सरल उदाहरण अभी आप जिस स्क्रीन में इस लेख को पढ़ रहे है, चाहे वह कंप्यूटर हो या मोबाइल फोन उसकी स्क्रीन एक हार्डवेयर है।

hardware ke prakar (हार्डवेयर कितने प्रकार के होते है)-

Hardware प्राय: दो प्रकार के होते है-

Internal Hardware-

Internal Hardware आंतरिक घटक आमतौर पर हमें दिखाई नही देते है, क्योंकि यह Computer Case (or Cabinet) के अंदर मौजूद होते है, इन्हें देखने के लिए हमे कंप्यूटर को खोलना होगा। आंतरिक हार्डवेयर की सूची नीचे दी गयी है —

software or hardware me kya antar hota hai
  1. Central Processing Unit (CPU)
  2. Motherboard
  3. RAM (Random Access Memory)
  4. ROM (Read Only Memory)
  5. Hard Drive
  6. PSU (Power Supply Unit)
  7. NIC (Network Card)
  8. Heat Sink (Fan)
  9. Graphics Card

External Hardware-

Peripheral Components को बाहरी घटक भी कहा जाता है, यह बाहर से कंप्यूटर के साथ जुड़े होते है। इनमे Input और Output Devices शामिल है। जिनकी सूची नीचे दी गयी है —

hardware kya hai
  1. Monitor
  2. Mouse
  3. Keyboard
  4. Printer
  5. Scanner
  6. Speaker
  7. UPS (Uninterruptible Power Supply)

software or hardware me kya antar hota hai-(सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में क्या अंतर होता है)-

Hardware व Software दोनों ही कंप्यूटर के सबसे महत्वपूर्ण भाग है। यह कंप्यूटर के लिए अलग-अलग कार्य करते है। जिसके कारण इनके बीच कई अंतर है। तो चलिए इनके बीच क्या अंतर है, इसे समझते है।

HardwareSoftware
हार्डवेयर एक फिजिकल डिवाइस है, जो कंप्यूटर के साथ भौतिक रूप से जुड़ा हुवा होता है।सॉफ्टवेयर निर्देशों का एक समूह या प्रोग्राम है, जो कंप्यूटर को एक विशेष टास्क करने के लिये निर्देश देता है।
Computer Hardware को आप देख व छू सकते है।Software को देखा छुवा नही जा सकता क्योंकि यह एक प्रोग्राम है।
हार्डवेयर को भौतिक सामग्री या कम्पोनेंट्स के इस्तेमाल से बनाया जाता है।सॉफ्टवेयर को बनाने के लिये प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में इंस्ट्रक्शन्स लिखे जाते है।
यह Software के नियंत्रण में संचालित होता है।यह कंप्यूटर के संचालन को नियंत्रित करता है।
अगर Hardware खराब हो जाये तो इसे ठीक किया जा सकता है, या फिर
नए से रिप्लेस किया जा सकता है।
यदि कभी सॉफ्टवेयर करप्ट हो जाये तो आप इसकी बैकअप कॉपी को रीइंस्टॉल कर इसे दुबारा ला सकते है।
हार्डवेयर पर Computer Virus का कोई फर्क नही पड़ता।जबकि कंप्यूटर वायरस Software को बुरी तरह से प्रभावित कर सकते है।
हार्डवेयर के बिना कंप्यूटर का कोई अस्तित्व नही है, इसके बिना यह नही चल सकता है।बिना सॉफ्टवेयर कंप्यूटर चल तो सकता है, परन्तु यह कई एरर उतपन्न करेगा और किसी भी जानकरी को आउटपुट नही करेगा।

Conclusion-

  • जेसा की आज हमने आपको Software Kya Hai इसकी सारी प्रक्रिया बताई है की केसे हम Software Kya Hai, software kitne prakar ke hote hai, Hardware kya hai, Hardware kitne prakar ke hote hain, Software or Hardware me kya antar hota hai के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment