B Pharma Kya Hota Hai, B Pharma की फीस, योग्यता, Collage, Syllabus, B Pharma के बाद क्या करे.

आ हम यह जानेंगे के b Pharma kya hota hai,- b pharma क्या है, B Pharma Full Form in Hindi, B Pharma के लिए योग्यता, b pharma ke liye Entrace Exam, B pharma kaise kare, b pharma ka sllaybous, B pharma ki Fees Kitni hai, भारत में b pharma ke top Collage, b pharma ke bad kya kare, b pharma ke bad jobs के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

b Pharma kya hota hai- b pharma क्या है –

आज हम जानेंगे की b Pharma kya hota hai और क्या इसकी योग्यता और भी सभी कुछ बताने वाले है –

B Pharma एक स्नातक (Graduation) स्तर पर किया जाने वाला Medical Field का कोर्स है। जिसका Full Form Bachelor of Pharmacy होता है।।

यह कोर्स 4 वर्ष का होता है। इसमें छात्र को दवाई (Medicine) की जानकारी दी जाती है। जैसे दवा कैसे बनाई जाती है? दवा बनाने की प्रक्रिया क्या है? कौनसी दवा कब और कैसे लेनी है? इत्यादि की जानकारी दी जाती है.

B Pharmacy Course में फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री, बॉयोलॉजी, फिजियोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री की पढ़ाई करनी होती है। इस कोर्स की विदेशों में भी बहुत मांग है।

यह कोर्स को करने के बाद आप एक अच्छी नौकरी प्राप्त कर सकते है और चाहे तो अपना भी मेडिकल सकते है।

B Pharma Full Form in Hindi-

B Pharma Full Form in Hindi: फार्मेसी स्नातक (Bachelor of Pharmacy) होता है। ये कोर्स मेडिकल छेत्र का Bachelor Degree Course होता है।

जिसमे औषधि और दवाई से जुड़ी सभी तरह की जानकारी दी जाती है। इसके अलावा इसमें कौन सी दवा कब देना है, कौन सा दवा कब लेना है, किसी तरह का टेस्ट कब कराना है ये सभी जानकारी B Pharma Course करने पर दिया जाता है।

B Pharma के लिए योग्यता-

B.Pharma में प्रवेश के लिए आपकी 12वीं कक्षा भौतिक, रसायन और गणित/बायोलॉजी विषय के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए।
12वीं की परीक्षा में आपके न्यूनतम 50% अंक होने चाहिए।
वह छात्र जिन्होंने फार्मेसी में डिप्लोमा किया है, वे भी यह कोर्स कर सकते है।
B.Pharma Course में प्रवेश लेने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 23 वर्ष होना चाहिए।

B Pharma के लिए प्रवेश परीक्षा- b pharma ke liye Entrace Exam-

B.Pharma आप दो तरीके से कर सकते है, पहला आप 12th करने के बाद B Pharmacy करने के लिए किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते है,

इसके अलावा अगर आप किसी अच्छे सरकारी कॉलेज से बी फार्मेसी करना चाहते है तो इसके लिए आपको B Pharma Entrance Exam देना होगा, जिसमें प्राप्त अंकों के आधार पर ही आपको कॉलेज में एडमिशन मिलता है।

बैचलर ऑफ़ फार्मेसी में एडमिशन लेने के लिए नीचे बताई गई निम्न प्रकार की प्रवेश परीक्षाएं देनी होती है।

  • BITSAT – यह बीआईटीएसएटी, बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस एडमिशन टेस्ट होता है जो कि, बैचलर ऑफ़ फार्मेसी में प्रवेश के लिए लिया जाता है।
  • WBJEE – वेस्ट बंगाल जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन बोर्ड, यह परीक्षा भी बी फार्मा में एडमिशन के लिए ली जाती है।
  • EAMCET – तेलंगाना स्टेट – इंजीनियरिंग एग्रीकल्चर एंड मेडिकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट, यह बी फार्मा एंट्रेस एग्जाम है जो कि बी फार्मेंसी में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है।

B pharma kaise kare – b pharma kaise karte hai –

बी फार्मा आप दो तरीके से कर सकते है

पहला है, एंट्रेंस एग्जाम देकर और दूसरा है, डायरेक्ट एडमिशन।

डायरेक्ट एडमिशन में आपको कोई एग्जाम देने की जरूरत नहीं।

आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है उस कॉलेज में जाये एबं एडमिशन फीस जमा करके एडमिशन ले लीजिए।

और अगर एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से बी फार्मा करना चाहते है तो आपको नीचे बताई गई स्टेप्स फॉलो करना होगा

  1. 12 वी पास करें: सबसे पहले आप फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी/मैथेमेटिक्स लेकर न्यूनतम 50 प्रतिशत नंबर के साथ 12 पास करे।

किसी किसी कॉलेज में इससे अधिक नंबर की मांग की जाती है।

  1. एंट्रेंस एग्जाम के लिए तैयारी: आप पहले से ही इस एग्जाम के लिए प्रिपरेशन करे।
    तैयारी करते वक़्त आप फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी तथा मैथेमेटिक्स इन चारों सब्जेक्ट्स को बारीकी से समझे।

आप चाहे तो एंट्रेंस एग्जाम के तैयारी के लिए किताब भी खरीद सकते है।

  1. ऑनलाइन फॉर्म फिलअप: इंटरमीडिएट एग्जाम से पहले जब NEET तथा इंजीनियरिंग के लिए फॉर्म छोड़े जाते है तब बी फार्मा के भी फॉर्म निकलते।

फॉर्म फिलअप करने के लिए आप ऑफिसियल साइट जाए वहां पर NEW APPLICATION/ NEW REGISTRATION का बटन होगा।

उसमें क्लिक करके अप्लाई कर दे एबं एप्लीकेशन फॉर्म के प्रिंट आउट निकल ले।

  1. एंट्रेंस एग्जाम दे: इस एग्जाम में ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन आते है एबं इसमें नेगेटिव मार्किंग भी है।

इसलिए जब तक सौ प्रतिशत निश्चित न हो जाये क्वेश्चन के उत्तर मत देना।

इससे आपको ही नुकसान होगा। हो सकते है अछि रैंक भी न हो।

  1. कॉउंसिल: आपके प्राप्त नंबर को देखते हुए रैंक कार्ड बनेगा और इसके आधार पर कॉउंसिल होगा।

काउंसलिंग भाग लेकर आप अपनी मन पसंद कॉलेज चुन सकते है।

b pharma ka sllaybous- b pharma का पाठ्यक्रम-

Semester I
Human Anatomy and Physiology I – TheoryPharmaceutical Analysis I – Theory
Human Anatomy and Physiology – PracticalPharmaceutical Inorganic Chemistry – Theory
Communication Skills – TheoryPharmaceutics I – Theory
Remedial Biology/ Remedial Mathematics – TheoryPharmaceutical Inorganic Chemistry – Practical
Pharmaceutical Analysis I – PracticalPharmaceutics I – Practical
Communication skills – PracticalRemedial Biology – Practical
Semester II
Human Anatomy and Physiology II – TheoryPharmaceutical Organic Chemistry I – Theory
Biochemistry – TheoryPathophysiology – Theory
Computer Applications in Pharmacy – TheoryHuman Anatomy and Physiology II – Practical
Biochemistry – PracticalEnvironmental Sciences – Theory
Pharmaceutical Organic Chemistry I– PracticalComputer Applications in Pharmacy – Practical
Semester III
Pharmaceutical Organic Chemistry II – TheoryPhysical Pharmaceutics I – Theory
Pharmaceutical Microbiology – TheoryPharmaceutical Engineering – Theory
Pharmaceutical Organic Chemistry II – PracticalPhysical Pharmaceutics I – Practical
Pharmaceutical Microbiology – PracticalPharmaceutical Engineering –Practical
Pharmacognosy and Phytochemistry I – Practical
Semester IV
Pharmaceutical Organic Chemistry III – TheoryPharmacognosy and Phytochemistry I– Theory
Medicinal Chemistry I – TheoryPhysical Pharmaceutics II – Theory
Pharmacology I – TheoryMedicinal Chemistry I – Practical
Pharmacology I – PracticalPhysical Pharmaceutics II – Practical
Semester V
Medicinal Chemistry II – TheoryIndustrial Pharmacy I– Theory
Pharmacology and Phytochemistry II – PracticalPharmacology and Biochemistry II– Theory
Pharmaceutical Jurisprudence – TheoryPharmacology II – Theory
Pharmacology II – PracticalIndustrial Pharmacy I – Practical
Herbal Drug Technology – Practical
Semester VI
Medicinal Chemistry III – TheoryPharmacology III – Theory
Herbal Drug Technology – TheoryBiopharmaceutics and Pharmaceutics – Theory
Pharmaceutical Biotechnology – TheoryQuality Assurance – Theory
Pharmacology III – PracticalMedicinal Chemistry III – Practical
Semester VII
Pharmaceutical Analysis-IIIPharmaceutical Technology-IV
Pharmaceutics and Bio pharmaceutics-IPharmacology- IV
Pharmacology-IVPharmaceutical Analysis Practical-III
Pharmaceutical Technology Practical-IVPharmacology Practical-V
Pharmacology Practical-IV
Semester VIII
Medicinal Chemistry-IVPharmaceutical Technology-V
Pharmaceutics and Bio pharmaceutics-IIClinical Pharmacy
Pharmacology-VMedicinal Chemistry Practical-IV
PharmaceuticsBiopharmaceutics
Pharmacology Practical-VIClinical Pharmacy Practical

B pharma ki Fees Kitni hai-

यदि आप सोच रहे है कि बी फार्मा की फीस कितनी है तो आपको बता दूं, कोर्स फीस कितने होगी ये कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है।

  • सरकारी कॉलेज में कोर्स फीस कम होती है परंतु प्राइवेट कॉलेज में कई गुना अधिक।
  • आमतौर पर प्राइवेट कॉलेज में 1.5 लाख से 3 लाख प्रति बर्ष कोर्स फीस होते है।
  • यही अगर सरकारी कॉलेज की बात करे तो 20 हज़ार से 40 हज़ार के अंदर पर ईयर कोर्स फीस आ जाते है।
  • ध्यान रहे, भिन्न राज्य और कॉलेज में फीस थोड़ा कम ज्यादा होगा।

भारत में b pharma ke top Collage-

  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली
  • पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई
  • यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेस, चंडीगढ़
  • मणिपाल कॉलेज ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (NIPER) मोहाली, पंजाब
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी, बीएचयू, वाराणसी
  • राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी, नागपुर

b pharma ke bad kya kare-

B.Pharm Graduates या तो संबंधित क्षेत्र में नौकरी के लिए जा सकते हैं या आगे के उन्नत अध्ययन का विकल्प चुन सकते हैं.

B.Pharm के बहुत से अच्छे विकल्प उपलब्ध हैं जैसे कि –

  • MBA
  • M.Sc. Pharmaceutical Chemistry
  • Management Program in Pharmacy
  • Master of Pharmacy (M.Pharm)
  • Course in clinical Research
  • Drug Store Management Course
  • Post Graduate Diploma in Clinical Trial Management
  • Integrated Post Graduate Diploma in Clinical Research

b pharma ke bad jobs-

अगर आप बी फार्मा (B Pharma) के बाद जॉब करना चाहते हैं, तो आप अपनी मनचाही फील्ड को चुनकर जॉब कर सकते हैं. तो आइए कुछ खास नौकरियों के बारे में जानते हैं.

  • ड्रग इंस्पेक्टर
  • चिकित्सकीय लिप्यंतरण
  • स्वास्थ्य फार्मेसी
  • ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर
  • प्रोफेसर
  • औषधि विश्लेषक
  • तकनीकी फार्मेसी
  • रिसर्च एजेंसी
  • ड्रग तकनीशियन
  • मेडिकल स्टोर
  • ड्रग थेरेपिस्ट
  • हेल्थ सेंटर
  • मेडिसिन कंपनी
  • टीचिंग

b pharma के बाद सैलरी (B Pharma karne ke bad salary kitni milti hai)-

अगर बी फार्मा के बाद सैलरी की बात करें, तो उनकी सैलरी उनके फील्ड और उनके अनुभव पर निर्भर करती है. फिर भी वे सालाना 3,00,000 से 5,00,000 लाख रुपये कमा सकते हैं.

इसके अतिरिक्त यदि उन्हें समय के साथ अधिक अनुभव प्राप्त होता है, तो उन्हें और भी अधिक वेतन मिल सकता है.

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के b Pharma kya hota hai,- b pharma क्या है, B Pharma Full Form in Hindi, B Pharma के लिए योग्यता, b pharma ke liye Entrace Exam, B pharma kaise kare, b pharma ka sllaybous, B pharma ki Fees Kitni hai, भारत में b pharma ke top Collage, b pharma ke bad kya kare, b pharma ke bad jobs के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment