NCC Kya Hai, NCC Full Form, NCC की तैयारी कैसे करे और NCC Join करने के फायदे.

आज हम यह जानेंगे के NCC Kya Hai, NCC Full Form In Hindi, NCC Join Kaise Kare, NCC की तैयारी कैसे करे, NCC Join करने के फायदे, NCC Certificate कितने होते है के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है

NCC Kya Hai-

NCC भारतीय सशस्त्र बल की युवा शाखा है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में है। यह एक त्रि-सेवा संगठन के रूप में कार्य करता है जो स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए खुला है, जिसमें सेना, नौसेना और वायु विंग शामिल हैं।

भारत में सैनिक युवा फाउंडेशन एक स्वैच्छिक संगठन है जो पूरे भारत में उच्च विद्यालयों, उच्च माध्यमिक, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से कैडेटों की भर्ती करता है।

कैडेटों को छोटे हथियारों और ड्रिल में बुनियादी सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है। NCC के प्रतीक में 3 रंग होते हैं; लाल, गहरा नीला और हल्का नीला।

ये रंग क्रमशः भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना का प्रतिनिधित्व करते हैं।

  • एन सी सी का आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” है
  • इसका चिन्ह “एन सी सी” अक्षरों से युक्त स्वर्णांकित एन सी सी क्रेस्ट है, जिस पर सात पृष्ठभूमि में लाल, नीला तथा हल्का नीला रंग है
  • एन सी सी क्रेस्ट में लाल रंग थल सेना का प्रतीकात्मक है
  • एन सी सी क्रेस्ट में गहरा नीला एवं हल्का नीला रंग वायुसेना प्रतीकात्मक है
  • एन सी सी क्रेस्ट में कमल का फूल 17 राज्य निदेशालयों का प्रतीकात्मक हैं
  • एन सी सी दिवस नवंबर के चौथे रविवार को मनाया जाता है
  • राष्ट्रीय स्तर पर एन सी सी रक्षा मंत्रालय के अधीन है
  • सभी राज्यों में एन सी सी शिक्षा मंत्रालय के अधीन है
  • एन सी सी के लिए वित्त/निधियों की व्यवस्था केन्द्र एवं राज्य सरकारों द्वारा किया जाता हैं
NCC Kya Hai, NCC Full Form, NCC की तैयारी कैसे करे और NCC Join करने के फायदे111

NCC Full Form In Hindi-

NCC का फुल फॉर्म “National Cadet Corps” है जिसको “नेशनल कैडेट कोर” बोला जाता है। तथा NCC को हिंदी में “राष्ट्रीय कैडेट कोर” के नाम से जाना जाता है।

NCC कितने साल की होती है?

  • NCC जूनियर डिवीजन/
  • विंग में दो साल और सीनियर डिवीजन/
  • विंग में तीन साल की ट्रेनिंग होती है।
  • इसमें एक साल का एक्सटेंशन भी हो सकता है।

NCC की स्थापना कब हुयी और कैसे हुयी-

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश सेना ने सैनिकों की बहुत कमी महसूस करी। ब्रिटिश शासक भारतीय छात्रों को सैन्य ज्ञान देना चाहते थे, जिससे कि उनकी फौज में अच्छे ऑफिसर व सैनिक शामिल हो सके और उनकी सेना मजबूत हो सके।

इसी को ध्यान में रखते हुए सन् 1917 में यूनिवर्सिटी कोर (U.C.) की स्थापना की गई जिसका पहला बैच (3 नवंबर 1917) कलकत्ता विश्वविद्यालय ने अपने यहां स्थापित किया।

1920 में भारतीय प्रादेशिक अधिनियम पारित हो जाने से U.C. की जगह यूनिवर्सिटी ट्रेनिंग कोर (U.T.C.) ने ली।

1942 में पुनः इसका नाम बदलकर यूनिवर्सिटी ऑफिसर ट्रेनिंग कोर (U.O.T.C.) रखा गया। जिसमे बहुत कम छात्रों ने भाग लिया।

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यूटीसी अपने उद्देश्य में असफल रही और इसी असफलता को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार में सन 1946 में पंडित हृदयनाथ कुजरू की अध्यक्षता में “राष्ट्रीय कैडेट कोर समिति” की स्थापना की।

इस समिति ने संसार के विकसित देशों द्वारा युवाओं के सैन्य प्रशिक्षण का गंभीरता से अध्ययन किया और मार्च 1947 में संपूर्ण रिपोर्ट सरकार को दी।सरकार ने समिति की सिफारिशों को स्वीकार करते हुए 16 जुलाई 1948 में रक्षा मंत्रालय के अधीन “NCC” की स्थापना की गई।

NCC Join करने के लिए योगयता –

  • एनसीसी जॉइन करने के लिए आप की न्यूनतम आयु 12 वर्ष तथा अधिकतम आयु 26 वर्ष होनी चाहिए।
  • एनसीसी जॉइन करने के लिए आपको भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • इसके अलावा नेपाल के नागरिक हमारे देश के एनसीसी को ज्वाइन कर सकते हैं।
  • आप किसी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान जैसे कि स्कूल कॉलेज या यूनिवर्सिटी में छात्र हों
  • NCC join करने वाले छात्रों को मानसिक तथा शारीरिक रूप से फिट होना जरूरी है।

NCC Join Kaise Kare?

एनसीसी ज्वाइन करने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान स्कूल या कॉलेज का छात्र होना चाहिए.

स्कूल, कॉलेज या यूनिवर्सिटी में अध्ययन के दौरान शिक्षण संस्थान के प्रधानाचार्य से NCC Join करने के बारे में बात करना होगा.

विद्यालय के प्रधानाचार्य आपको एनसीसी ज्वाइन करने के बारे में बताएँगे और एनसीसी आवेदन फॉर्म देंगे. उस फॉर्म को अच्छे से पढ़कर भरना होगा.

यदि आप कॉलेज के छात्र हैं, तो आपको अपने कॉलेज प्रोफेसर से एनसीसी ज्वाइन करने के बारे में बात करना होगा.

एनसीसी ज्वाइन करने के लिए आपको कॉलेज के NCC Officer के पास जाना पड़ेगा और एनसीसी एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा.

NCC Application Form भरने के बाद प्रशिक्षण होता है. ट्रेनिंग पूरा होने के बाद एनसीसी के लिए चयन होता है.

NCC की तैयारी कैसे करे –

एनसीसी की ‘ए’,’बी’,’सी’ प्रमाण पत्र की परीक्षाएं फरवरी/मार्च में प्रतिवर्ष आयोजित की जाती हैं जिसमे पात्रता शर्ते निम्न है-

  • ‘ए’ प्रमाण पत्र की परीक्षा- इस परीक्षा में वह कैडिट्स बैठेंगे जिन्होंने जूनियर डिवीजन NCC में 2 वर्ष का प्रशिक्षण प्राप्त करने के साथ साथ 75℅ उपस्थिति और एक वार्षिक शिविर में भाग लिया है।
  • ‘बी’ प्रमाण पत्र की परीक्षा-इस परीक्षा में वह कैडिट्स बैठने के अधिकारी हैं जिन्होंने NCC में 2 वर्ष का प्रशिक्षण प्राप्त करने के साथ साथ 75℅ उपस्थिति और एक वार्षिक शिविर में भाग लिया है।
  • ‘सी’ प्रमाण पत्र की परीक्षा- इस परीक्षा के लिए कैडेट ने ‘b’ सर्टिफिकेट की परीक्षा पास की हो, सीनियर डिवीजन मे 3 साल की ट्रेनिंग पूरी की हो, कम से कम 75℅ उपस्थिति और 2 वार्षिक या समकक्ष कैंपो में भाग लिया हो।
  • A,B,C परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए कैडेट्स को प्रति विषय 45% अंक और कुल 50% अंक लाना अनिवार्य है।एनसीसी परीक्षा में कैडेट्स को डिवीजन न देकर ग्रेडिंग दी जाती है जो कि निम्न प्रकार है-
  • ‘A’ ग्रेडिंग- 80% या अधिक अंक प्राप्त करने पर
  • ‘B’ ग्रेडिंग- 65% से 79% तक अंक प्राप्त करने पर
  • C’ ग्रेडिंग- 50 या 50 से अधिक तथा 64% अंक प्राप्त करने पर।

NCC Certificate कितने होते है –

एनसीसी में सर्टिफिकेट तीन तरह का होता है.

  1. NCC ‘A’ Certificate
  2. NCC ‘B’ Certificate
  3. NCC ‘C’ Certificate

NCC का सबसे उच्चतम Certificate ‘C’ है जिसके साथ में ‘A’ Grading होती है| वही सबसे lowest rank का सर्टिफिकेट NCC ‘A’ Certificate होता है जिसके साथ में ‘C’ Grade होता है|

A, B and C certificate भारत के राष्ट्रीय कैडेट कोर द्वारा लिखित और परेड परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले कैडेट को प्रदान किए जाते हैं।

NCC ‘A’ Certificate 9th और 10th class के छात्रों के लिए होता है| या आप यह भी बोल सकते की यह सर्टिफिकेट Junior Division / Junior Wing (JD/JW) के cadres को दिया जाता है|

NCC ‘B’ और ‘C’ Certificate हाई स्कूल से ऊपर और College के छात्रों के लिए होता है (SD/SW)|

Note: NCC ‘C’ Certificate परीक्षा को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद ही आपको अपने करियर में अधिकांश लाभ मिलते हैं।

NCC Join करने के फायदे –

  • NCC की ट्रेनिंग पूरी करने वाले students को तीन अलग अलग Certificate दिए जाते है। जो आपके भविष्य में gov. Job में बहुत उपयोगी साबित होंगे। तो चलिए जानते है कैसे
  • जिस अभ्यर्थी के पास A सर्टिफिकेट है उसे संबधित राज्य पुलिस की लिखित परीक्षा में 5 मार्क्स बोनस में दिए जाते है
  • NCC उम्मीदवार को केंद्र और राज्य सरकार की नोकरी में प्राथमिकता दी जाती है।
  • जिस NCC उम्मीदवार के पास C सर्टिफिकेट होता है उनके इंडियन मिलिट्री एकेडमी में 64 सीटें रिजर्व होती है

NCC का उद्देश्य क्या है?

  • एनसीसी का मुख्य उद्देश्य है कि वह हमारे देश के युवाओं को अनुशासन तथा नेतृत्व की ट्रेनिंग दे।
  • हमारे देश के युवाओं के अंदर देशभक्ति की भावना को और बढ़ाएं
  • हमारे देश के युवा को सैन्य प्रशिक्षण तथा सैन्य अनुशासन की ट्रेनिंग मिल सके.
  • हमारे देश के युवाओं के अंदर leadership quality को बढ़ाना ताकि वह अपने भविष्य और अपना केरियर दोनों सफल बना सकें.
  • हमारे देश के युवाओं के अंदर भाईचारे की भावना को जगाना तथा युवाओं के अंदर देश के प्रति कुछ करने की भावना को जगाना
  • युवाओं को देश के फौज में शामिल होने के लिए प्रेरित करना

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के NCC Kya Hai, NCC Full Form In Hindi, NCC Join Kaise Kare, NCC की तैयारी कैसे करे, NCC Join करने के फायदे, NCC Certificate कितने होते है के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.