OTP Kya Hai, full form, OTP के प्रकार, OTP का उपयोग क्यों और कंहा किया जाता है

आज हम यह जानेंगे के OTP Kya Hai, OTP Full Form in Hindi, OTP का अविष्कार किसने किया , OTP कैसे प्राप्त होता है, OTP के प्रकार, OTP का उपयोग कहाँ किया जाता है, OTP का उपयोग क्यों किया जाता है के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

OTP Kya Hai-

OTP kya hai या अर्थ वन टाइम पासवर्ड होता है। यह एक सुरक्षा का कोड है जिसका इस्तेमाल हम ऑनलाइन लेन-देन करते समय करते है।

जब हम Internet Banking की सहायता से ऑनलाइन लेन-देन जैसे- Online Shopping, Mobile का रिचार्ज आदि करते है तब सभी जानकारियाँ भरने के बाद अंत मे एक कोड आता है, जिसे हम “ओटीपी” कहते है।
एक ऐसा पासवर्ड जिसका सिर्फ एक ही बार उपयोग किया जा सकता है।

जब आप किसी Website पर लॉगिन करते है या अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग करते है तब कई वेबसाइट आपसे ओटीपी नंबर मांगती है तब आप जरूर सोचते होंगे कि,

ये OTP Ka Number क्या है, तो दोस्तों ये एक कोड है जो आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर आता है।

OTP Full Form in Hindi

OTP Ka Full Form – “One Time Password” होता है। हिंदी में OTP Full Form “एक बार इस्तेमाल किया जाने वाला पासवर्ड” है।

otp full form in hindi

OTP का अविष्कार किसने किया – OTP ki khoj kisen ki thi ?

ओटीपी के आविष्कार का श्रेय Gilbert Vernam को दिया जाता है! वह एक At&T इंजीनियर थे उन्होंने एक randomized key को store करने के लिये छिद्रित tap का उपयोग कर क्रिप्टोग्राफ़ी के लिए सिस्टम का पेटेंट कराया!

हालाँकि इस प्रक्रिया के बावजूद भी Otp के मापदंडों को पूरी तरह परिभाषित नहीं किया गया!तथा जब कैप्टेन Joseph Maubourgne ने यह मशीन देखी तो उसमें कई सारी आवश्यक शर्तें थी जो आज के otp के लिए आवश्यक होती है!

जैसे कि randomized key का इस्तेमाल सिर्फ एक बार कर पाना तथा जिसके बाद वह स्वयं नष्ट हो जाएगी! हालाँकि उस समय उस version की ओर लोगों का अधिक ध्यान नहीं गया!

1920 के दशक में otp ने अधिक ध्यान आकर्षित किया जब otp की खोज German cryptologists, Kunze, Schauffler, and Langlotz नामक व्यक्तियों द्वारा स्वत्रन्त्र रूप से otp की खोज की!

तथा इस प्रकार otp का विकास कार्य चलता रहा! तथा जर्मन सरकार ने पहली बार 1923 मे otp को अपनाना शुरू किया! यहाँ रोचक बात यह है कि otp का इस्तेमाल द्वितीय विश्व युद्ध में भी किया गया था!

हालांकि otp का अविष्कार आज से लगभग सौ वर्ष पूर्व किया गया परन्तु उस समय न तो इंटरनेट था औऱ न ही टेक्नोलॉजी इतनी विकसित थी!

परन्तु आज इंटरनेट तथा अत्याधुनिक उपकरणों की वजह से otp के इस्तेमाल करने के तरीक़े में बड़ा परिवर्तन आया है!

OTP का उपयोग क्यों किया जाता है-

दुनिया का तकनिकी क्षेत्र में विकास होने के साथ साथ Internet और Computers का उपयोग कुछ लोग गलत कामो के लिए भी करने लगे थे.

ऐसे गलत कामो को साइबर अपराध कहा जाता है. अतः ऐसे साइबर अपराधों को कम करने के लिए OTP का इस्तेमाल किया जाता है.

ज्यादातर लोग जो किसी ऑनलाइन अकाउंट के लिए अपना मनचाहा Password बनाते हैं तो उसमें अपना नाम या Date-of-Birth डाल देते हैं या फिर कोई आसान सा Password बनाते हैं जो उन्हें आसानी से याद आ जाये.

लेकिन यह आसान Password आपके ऑनलाइन अकाउंट के लिए खतरा बन सकता है तथा आपका अकाउंट पूरी तरह से सुरक्षित नहीं रहता इसीलिए ओटीपी की सहायता से इसे और भी Secure बनाया जाता है.

क्योकि ओटीपी आपके बनाए गए Password से बिलकुल अलग होता है और हर बार यह अलग अलग अनुक्रम में जनरेट हो कर आता है.

OTP कैसे प्राप्त होता है?

किसी भी Online Verification या, किसी वेबसाइट पर लॉग इन करने या ऑनलाइन खरीदारी करने के बाद, DEBIT (डेबिट) या क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर, कई वेबसाइट हमारे Phone पर OTP भेजती है जिसे हमें वहां Enter करना होता है।

otp kya hai

OTP तीन प्रकार से प्राप्त होता है?

OTP के प्रकार-

दोस्तों यहां हम आपको बता रहे हैं ओटीपी कितने तरह का होता है यह मुख्यतः तीन तरह का होता है जिसको हम नीचे बता रहे हैं

SMS के द्वारा

जब हम अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के द्वारा अपने मोबाइल पर एसएमएस के जरिए ओटीपी मंगवाते हैं तो इसे एसएमएस ओटीपी कहते हैं।

Email के द्वारा–

जब हम किसी वेबसाइट पर अपना पासवर्ड भूल गए होते हैं या अभी सेट कर रहे होते हैं तो हमें न्यू पासवर्ड जनरेट करने के लिए ईमेल के द्वारा ओटीपी मिलता है जिसे हम ईमेल ओटीपी कहते हैं।

Voice कॉल के द्वारा–

ओटीपी प्राप्त करने का तीसरा तरीका यह है कि जब हमें ओटीपी अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वॉइस कॉल के द्वारा प्राप्त होता है उसे वॉइस ओवर ओटीपी कहते हैं.

OTP का उपयोग कहाँ किया जाता है-

OTP का इस्तेमाल ज्यादातर ऐसे जगहों में किया जाता है जहां किसी दुसरे इंसान से आपकी निजी जानकारी को कोई खतरा हो सकता है. इसका सबसे अच्छा उदहारण Internet Banking तथा Online Transaction को लिया जा सकता है.

जब भी आप दोनो मे से किसी भी सुविधा का इस्तेमाल करना चाहेंगे तो आपके Registered Mobile Number पर एक ओटीपी आता है.

उस ओटीपी को डालने के बाद ही आप उस सुविधा का लाभ ले सकेंगे. ऐसी चीज़ों का इस्तेमाल पढने की वजह से इसमें OTP अनिवार्य कर दिया गया है, जिससे आपका पैसा सुरक्षित रहे और उसका उपयोग सिर्फ आप ही कर पायें.

Whatsapp में भी लाग इन करते समय मोबाइल में SMS के जरिये एक ओ टी पी आता है. आजकल Google Account में भी 2-स्टेप-वेरिफिकेशन लागु कर दिया गया है जिससे आपके Google खाते में आपके अलावा कोई और लाग इन या Changes न कर पाए.

इनके अलावा सभी इ-कॉमर्स वेबसाइट जैसे Amazon, Myntra, ebay, Snapdeal, Flipkart और डिजिटल वॉलेट प्रदान करने वाली कंपनिया जैसे Phonepe, Mobilkwik, Paytm आदि ओटीपी सुविधा का इस्तेमाल करते हैं जिससे सभी Costomers के ऑनलाइन एकाउंट्स को सुरक्षित रखा जाता है.

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको केOTP Kya Hai, OTP Full Form in Hindi, OTP का अविष्कार किसने किया , OTP कैसे प्राप्त होता है, OTP के प्रकार, OTP का उपयोग कहाँ किया जाता है, OTP का उपयोग क्यों किया जाता है के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment