Topology kya hai or टोपोलॉजी के प्रकार के बारे जाने हिंदी में

आज हम यह जानेंगे के Topology kya hai, topology ke prakar, topology के उपयोग के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

Topology kya hai-

टोपोलॉजी नेटवर्क के डिजाईन को कहा जाता है जो दो ग्रीक शब्द टोपो और लॉजी से मिलाकर बना होता है जहाँ टोपो का मतलब स्थान और लॉजी का मतलब अध्ययन होता है।

टोपोलॉजी का उपयोग यह समझाने के लिए किया जाता है की नेटवर्क भौतिक रूप से कैसे जुड़ा है टोपोलॉजी यह भी बताता है की एक उपकरण दूसरे उपकरण से कैसे जुड़े होते है और कम्युनिकेट करते है।

एक भौतिक टोपोलॉजी कंप्यूटर नेटवर्क में जुड़े कंप्यूटर और उसके नोड्स या फिर डिवाइस के स्थान, वर्कस्टेशन और उसके कोड के बारे में विस्तार से वर्णन करता है।

नेटवर्क टोपोलॉजी न केवल भौतिक (Physically) रूप से बल्कि तार्किक (Logically) रूप से नेटवर्क के लेआउट, आभासी आकार या संरचना को परिभाषित करता है।

एक नेटवर्क में एक ही समय में एक फ़िज़िकल और एक से ज़्यादा लॉजिकल टोपोलॉजी हो सकते हैं।

topology ke prakar – टोपोलॉजी के प्रकार –

टोपोलॉजी के निम्न प्रकार होते है –

  1. बस टोपोलॉजी (Bus Topology) –
  2. रिंग टोपोलॉजी (Ring Topology) –
  3. स्टार टोपोलॉजी (star Topology)
  4. मेश टोपोलॉजी (Mesh Topology)
  5. ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology)
  6. हाइब्रिड टोपोलॉजी (Hybrid Topology)

1.- Bus Topology-बस टोपोलॉजी:-

BUS TOPOLOGY एक ऐसा नेटवर्क सेटअप है जिसका प्रत्येक नोड्स एक ही सिंगल केबल से कनेक्टेड होता है जिसे बैकबोन भी कहा जाता है।

topology kya hai

इस टोपोलॉजी में विभिन्न उपकरणों को कनेक्ट करने के लिए RJ-45 केबल का इस्तेमाल किया जाता है जिसमे डाटा फ्लो का दिशा एक ही डायरेक्शन में होता है।

बस टोपोलॉजी में किसी भी प्रकार के दिक्कत आने पर इसका पूरा नेटवर्क काम करना बंद कर देता है यह अन्य नेटवर्क टोपोलॉजी की तुलना में बहुत ही आसानी से व्यवस्थित हो जाता है।

बस टोपोलॉजी एक प्रकार का नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसके प्रत्येक छोर पर टर्मिनेटर के साथ एक केबल जुड़ा होता है जो नोड्स को जोड़ने का कार्य करता है।

डाटा को इसके एंड से दुसरे एंड तक पहुँचाने के लिए इसका एक नोड सर्वर की तरह काम करता है।

2. Ring Topology-रिंग टोपोलॉजी:-

रिंग टोपोलॉजी में सारे कंप्यूटर डिवाइस एक रिंग के रूप में एक दूसरे से कनेक्टेड रहते है इस टोपोलॉजी के अन्दर कोई भी कंप्यूटर होस्ट या फिर मेन कंप्यूटर नही होता है।

रिंग टोपोलॉजी में सिग्नल को पास होने के लिए रिंग का आकार दिया जाता है वही डाटा को पास करने के लिए नोड्स के अलावा रिपीटर का इस्तेमाल किया जाता है।

topology kya hai ring topology (1)

RING TOPOLOGY का उपयोग LOCAL AREA NETWORK में किया जाता है जहाँ इसके सारे नोड्स क्लोज्ड लूप कॉन्फ़िगरेशन में जुड़े होते है।

इसमें जुड़ने वाले नेटवर्क पास वाले डिवाइस से डायरेक्ट जुड़े होते है जबकि और सभी डिवाइस दूसरे डिवाइस के थ्रू जुड़े रहते है।

रिंग टोपोलॉजी में डाटा को डायरेक्ट एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में नही भेजा जाता है। इस नेटवर्क टोपोलॉजी को एक्टिव टोपोलॉजी भी कहते है क्योकि यह सभी दूसरे कंप्यूटर डिवाइस से जुड़ा होता है।

रिंग के फॉर्म में जुड़े सभी कंप्यूटर अपने पास वाले डिवाइस को इनफार्मेशन प्रदान करते है इस तरह से डाटा रियल कंप्यूटर तक पहुँच जाता है।

3.- star topology-स्टार टोपोलॉजी –

इस टोपोलॉजी में एक होस्ट या मुख्य कंप्यूटर होता है जिससे सभी लोकल कंप्यूटर जुड़े होते है इसमें सभी लोकल कंप्यूटर आपस में नहीं जुड़े होते है इसमें होस्ट कंप्यूटर सर्वर की तरह कार्य करता है और सभी लोकल कंप्यूटर क्लाइंट की तरह कार्य करते है.

topology kya hai ring topology (2)

इस नेटवर्क में यदि होस्ट या मुख्य कंप्यूटर ख़राब हो जाता है तो पूरा नेटवर्क ख़राब हो जाता है और यदि कोई लोकल कंप्यूटर ख़राब होता है तो

इससे नेटवर्क पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है इसमें होस्ट कंप्यूटर से ही पूरे नेटवर्क को कण्ट्रोल किया जाता है जैसा की चित्र में दर्शाया गया है

4 – Mesh tolplogy-मेष टोपोलॉजी:-

मेष टोपोलॉजी मेष टोपोलॉजी में सारे नोड्स आपस में डायरेक्टली जुड़े होते है इसमें किसी भी प्रकार के नेटवर्क हब का आवश्यकता नही होता है इसमें जुसे सारे डिवाइस और मशीन जैसे- कंप्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर आदि सीधे तौर पर एक दूसरे से जुड़े रहते है।

topology kya hai tree (2)

इसमें जुड़े सारे नोड्स के केबल जुड़ने के बाद एक जाल के आकार की तरह दिखता है और मेष का हिंदी मीनिंग जाल होता है इसीलिए इसे मेष टोपोलॉजी कहा जाता है।

मेष टोपोलॉजी को बहुत ही सुरक्षित नेटवर्क माना जाता है इसमें दो कंप्यूटर के बीच हो रहे कम्युनिकेशन को एक्सेस करना बहुत ही कठिन होता है।

इस तरह के नेटवर्क टोपोलॉजी में इससे कनेक्टेड नोड्स के बीच कम्युनिकेशन के लिए बहुत से रुट्स का प्रयोग किया जाता है वही एक लार्ज मेष नेटवर्क के लिए बहुत से वायरलेस नोड्स का भी इस्तेमाल किया जाता है।

5.- Tree Topology- ट्री टोपोलॉजी:-

ट्री टोपोलॉजी एक विशेष प्रकार की सरंचना होती है जो स्टार टोपोलॉजी और बस टोपोलॉजी से मिलकर बना होता है इसके सारे नोड्स आपस मिलकर पेड़ का आकार बनाते है इसी कारण इसे ट्री टोपोलॉजी कहा जाता है। ट्री टोपोलॉजी को STAR-BUS टोपोलॉजी भी कहा जाता है।

topology kya hai tree (1)

अन्य दूसरे टोपोलॉजी की तुलना में ट्री टोपोलॉजी सबसे सरल होता है इसी कारण इसका उपयोग नेटवर्क में कई तरीको से किया जाता है।


6.- Hybrid Topology-हाइब्रिड टोपोलॉजी:-

दो या दो से अधिक नेटवर्क टोपोलॉजी से मिलकर बने टोपोलॉजी को हाइब्रिड टोपोलॉजी कहा जाता है इस टोपोलॉजी में बस टोपोलॉजी, मेष टोपोलॉजी, स्टार टोपोलॉजी, रिंग टोपोलॉजी, ट्री टोपोलॉजी शामिल होते है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी को आवश्यकता के अनुसार बनाया जाता है इसमें स्टार और मेष टोपोलॉजी या फिर बस और स्टार टोपोलॉजी आदि शामिल हो सकते है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी का उपयोग स्कूल, रिसर्च आर्गेनाइजेशन, बैंक आदि जगहों पर किया जाता है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी में किसी भी प्रकार के त्रुटि का पाता लगाना बहुत ही आसान होता है और इसमें डाटा का ट्रान्सफर अन्य टोपोलॉजी की तुलना में बहुत तेज़ होता है।

topology के उपयोग –

  • यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है नेट्वर्क के सही तरीक़े से फ़ंक्शन होने में।
  • ये हमें networking concepts को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।
  • ये operational और maintenance costs को कम करने में सक्षम होता है।
  • एक नेटवर्क टोपोलॉजी एक नेटवर्क को केबल करने के लिए उपयोग किए जाने वाले मीडिया प्रकार को निर्धारित करने का एक कारक है।
  • नेटवर्क टोपोलॉजी का उपयोग करके त्रुटि या गलती का पता लगाना आसान बैन जाता है।
  • इसके ज़रिए resources और नेट्वर्किंग component का उचित और प्रभावी उपयोग हो पाता है।

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के Topology kya hai, topology ke prakar, topology के उपयोग बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment