TDS Kya Hai, TDS का भुगतान ऑनलाइन कैसे करें, TDS क्यों जाता है और TDS के लाभ

आज हम यह जानेंगे के TDS kya hai, TDS Full Form In Hindi, TDS Online kaise pay kare, TDS क्यों कटता है, TDS कब काटा जाता है, TDS Online kaise pay kare, TDS कटौती के लाभ के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

TDS kya hai – TDS क्या है-

टीडीएस (TDS) सरकार द्वारा लिया जाने वाला इनडायरेक्ट टैक्स (Indirect Tax) है जोकि कर चोरी को रोकने में सहायक है।
टीडीएस Paid Tax का एक रूप है या यह एक Advance Tax है। TDS, Income Tax Department के द्वारा जरी किया गया Tax Deduct करने का ऐसा नियम है जिसके अंतर्गत Source से ही Tax को काट लिया जाता है.

यह टैक्स उसी समय काट लिया जाता है जिस समय व्यक्ति की Income होती है.इसके आलावा TDS के अन्य प्रकार भी हैं जिसे समय-समय पर सरकार के पास जमा किया जाता है.

यह वित्तीय वर्ष के अंत में अपना आयकर रिटर्न दाखिल करने के बाद कुल राशि को Tax Return के रूप में Return किया जाता है।

हालाँकि, इसे न केवल वर्ष में एक बार दायर किया जाता है, बल्कि इसे त्रैमासिक आधार पर भी File किया जाता है।

TDS Full Form In Hindi-

T.D.S Full Form In Hindi – “Tax Deducted At Source” और टीडीएस फुल फॉर्म हिन्दी में – “स्त्रोत पर कर कटौती” होता है।

टीडीएस क्यों कटता है? (TDS kyo kata jata hai)-

अब तक आप समझ चुके होंगे की टीडीएस क्या होता है, इसके बाद आपके मन में यह सवाल होगा कि टीडीएस क्यों काटा जाता है? यदि हम साधारण शब्दों में इसका जवाब देना चाहेंगे तो हम कह सकते हैं कि टीडीएस देश चलाने के लिए काटा जाता है।

हम इसे से समझ सकते हैं की भारत की जनसंख्या करीबन सवा सौ करोड़ के लगभग हैं देश में सरकार द्वारा सभी के लिए अनेक सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।

तो उन सुविधाओं को प्रारंभ करने के लिए धन की आवश्यकता होती है, वो धन हम और आप से टीडीएस के रूप में इकट्ठा किया जाता है।

टीडीएस के रूप में सरकार के पास जमा होगा धन सरकार जनता को अनेक सुविधा प्रदान करने के रूप में वापस लौटा देती है, अथार्थ आपके द्वारा भरा गया टैक्स सरकार देश के विकास के लिए खर्च करके आपको बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाती हैं।

TDS कब काटा जाता है?-

टीडीएस क्यों काटा जाता है और टीडीएस कब काटता है ये एक दिलचस्प जानकारी है। एक व्यक्ति या संगठन दंड, शुल्क या ब्याज से बच सकते हैं यदि वे कुछ आवश्यकताओं का प्रभावी ढंग से पालन करते हैं। निम्नलिखित प्रमुख टीडीएस नियम हैं:

पहले मूलभूत मानदंडों में से एक यह है कि भुगतान के देय होने या वास्तविक राशि के भुगतान के समय से पहले स्रोत पर कर कटौती को रोक दिया जाना चाहिए।

समय पर टीडीएस काटने में विफलता के परिणामस्वरूप कर काटे जाने तक प्रति माह 1% का ब्याज शुल्क लगेगा।
अगले महीने की 7 तारीख तक,

नियोक्ताओं सहित सभी को सरकार के खाते में रोके गए कर को क्रेडिट करना होगा।
अगर टीडीएस समय पर जमा नहीं होता है या देर से भुगतान किया जाता है, तो 1.5 प्रतिशत प्रति माह का ब्याज शुल्क लगाया जाएगा।

टीडीएस का भुगतान ऑनलाइन कैसे करें? – TDS Online kaise pay kare-


ऑनलाइन टीडीएस का भुगतान करने के लिए नीचे सूचीबद्ध तरीके से बताया गया है।

चरण 1 – टीडीएस के ऑनलाइन भुगतान के लिए आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

TDS KYA HAI

चरण 2 – आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के पश्चात वेबसाइट में टीडीएस अनुभाग में चालान संख्या के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा, जो आपको ही पेमेंट के पेज पर ले जाएगा।

चरण 3 – इस पृष्ठ पर निम्न विवरण को दर्ज करें।

  • यदि किसी कंपनी का भुगतान आप कर रहे हैं तो टैक्स एप्लीकेबल मैं कंपनी डिडक्टीज चुने। और यदि आपके द्वारा किसी कंपनी के अलावा अन्य व्यक्ति का भुगतान किया जा रहा है तो non-company डिडक्टीज का ऑप्शन चुने।
  • अपने भुगतान की प्रकृति को ड्रॉपडाउन सूची में से चुने।
  • भुगतान के तरीके का चयन करना होगा।
  • TAN दर्ज करने के बाद उस वर्ष का चयन करें जिसका भुगतान करना है।
  • अब आपको अपना एड्रेस विद पिन कोड दर्ज करना होगा और साथ ही अपना मोबाइल नंबर भी दर्ज करें।
  • नीचे दिया कैप्चा कोड दर्ज करने के बाद आगे बढ़ने के बटन पर क्लिक करना है।

चरण4 – अब डेक्सटॉप पर एक स्क्रीन प्रदर्शित होगी जिसकी पुष्टि के लिए इसे सबमिट करें। यदि आपके द्वारा दर्ज की गई TAN वेद होगी तो पूरी स्क्रीन पर निर्धारित आ का नाम प्रदूषित किया जाएगा।

चरण 5 – इन सब की पुष्टि होने के बाद यह वेबसाइट आपको नेट बैंकिंग की साइट पर लेकर जाएगी। वहां से आपको अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड की मदद से बैंक खाते में लॉग इन करना होगा और भुगतान करना होगा।

चरण 6 – टैक्स के भुगतान के सफल हो जाने के बाद आपकी डेस्कटॉप स्क्रीन पर एक विवरण दिखाई देगा जिसमें आपका बैंक का नाम आदि मौजूद होंगे, आप इसे सेव करके रख सकते हैं क्योंकि यह भुगतान का प्रमाण होता है।

टीडीएस कटोती के नियम| TDS Rules-

TDS काटने और इसके जमा करने को लेकर Income Tax Department की ओर से कुछ नियम तय किए गए हैं। जिन पर समुचित रूप से अमल न करने पर जुर्माना, ब्याज या Late Fee भरना पड़ सकता है।

कटौती के संबंध में |About deduction
पेमेंट देने की अंतिम तिथि या वास्तविक पेमेंट (actual payment) जो भी पहले हो, उस समय तक TDS काट लिया जाना चाहिए। इसमें विलंब करने पर 1% प्रति माह की दर से ब्याज भरना पडे़गा।

जमा करने के संबंध में| About payment-
TDS काटने वाले को कलेक्ट की गई रकम को अगले महीने की 7 तारीख तक सरकार के पास जमा करना अनिवार्य है। ऐसा न कर पाने पर पूरी रकम पर हर महीने 1.5%/माह का ब्याज अलग से देना पडे़गा।

रिटर्न के संबंध में | About return filing-
हर महीने जो TDS काटा जाता है उसका रिटर्न हर तिमाही के अगले महीने की अंतिम तारीख तक दाखिल किया जाना अनिवार्य है।

यानी कि financial year की 31 July, 31 October, 31 January, and 31 May तक। ऐसा न कर पाने पर 200 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से लेट फीस भरना पडे़गा।(section 234E के मुताबिक) । हालांकि Late fee की रकम कुल टैक्स से अधिक नहीं हो सकती।

TDS कटौती के लाभ – tDS के लाभ-

  • टीडीएस कटौती से सरकार और नागरिक दोनों को फायदे होते हैं। एक तरफ जहां टैक्स चोरी में गुंजाइश ना के बराबर बचती है।
  • जिससे सरकार को फायदा होता है। वहीं दूसरी तरफ करदाता को भी टैक्स भरने में आसानी रहती है। क्योंकि धीरे-धीरे उसके अकाउंट से टीडीएस कटता रहता है। जिससे उस पर अचानक बोझ नहीं पड़ता है।
  • TDSकाटने की जिम्मेदारी सरकार ने कंपनियों को दे दी है। जिससे आयकर विभाग को टैक्स इकट्ठा करने में आसानी होती है।
  • टीडीएस कटौती से अब टैक्स चोरी की गुंजाइश ना के बराबर रह गई है। क्योंकि टीडीएस व्यक्ति के अकाउंट से पहले ही काट लिया जाता है। जिससे व्यक्ति को आयकर रिटर्न फाइल करना ही पड़ता है।
  • TDS कटौती से काफी संख्या में कमाई करने वाले टैक्स के दायरे में आ जाते हैं। जिससे सरकार की आमदनी में वृद्धि होती है।
  • टीडीएस कटौती से करदाता को आसानी रहती है। जिससे उसे एडवांस टैक्स भरने का झंझट नहीं करना पड़ता है।

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के TDS kya hai, TDS Full Form In Hindi, TDS Online kaise pay kare, TDS क्यों कटता है, TDS कब काटा जाता है, TDS Online kaise pay kare, TDS कटौती के लाभ के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment