NGO Kya Hota Hai, NGO Full Form, NGO रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया और NGO के कार्य

आज हम यह जानेंगे के NGO Kya hota hai, NGO in Hindi, NGO Full Form in Hindi, nGO के क्या कार्य है, NGO के प्रकार, nGO registration के लिए Documents, NGO ONLINE REGISTRATION IN HINDI, NGO के उद्देश्य, भारत के TOP NGO LIST के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

NGO Kya hota hai- NGO in Hindi-

NGO यानी नॉन गवर्नमेंट आर्गेनाईजेशन (Non Government Organisation), हिंदी में इसे हम गैर सरकारी संस्था कहते है।

भले ही ये गैर सरकारी संस्था हो लेकिन सरकार के साथ मिलकर जनता के सरोकार के लिए काम करती है एनजीओ। एनजीओ की मदद से तमाम सरकारी योजनाएं हमारे दहलीज तक पहुंचती है।

एनजीओ की मदद से सरकार विकास के काम करती है। ये एनजीओ इम्प्लिमेंटिंग एजेंसी का भी काम करती है।
देश में आज ऐसे बहुत से गरीब और बेसहारा लोग है जो गरीबी और उत्पीड़न का शिकार है वहीं आज के ऐसे दौर में जहाँ इंसानियत शायद ही बची होगी,

उन्हीं में से NGO Organization किसी फ़रिश्ते से कम नहीं है जो अपने लाभ के बारे में बिना सोचे इन लोगों की मदद करते है।

NGO Full Form in Hindi-

एन.जी.ओ (NGO) का Full Form “Non Governmental Organization” होता है, जबकि हिंदी में NGO Full Form या पूरा नाम “गैर सरकारी संगठन” है।

यह सरकार के बिना किसी दखलंदाजी के समाज कल्याण के लिए अलग-अलग तरह के कार्य करते है। हर साल 27 फरवरी को विश्व NGO दिवस मनाया जाता है।

NGO in Hindi – गैर सरकारी संगठन
एनजीओ फुल फॉर्म इन इंग्लिश – Non Governmental Organization

nGO के क्या कार्य है-

NGO क्या है NGO फुल फॉर्म इन हिंदी इन सभी को जानने के बाद आपको थोड़ा बहुत अंदाजा लग गया होगा कि एनजीओ किस लिए काम करते हैं एवं एनजीओ का काम क्या होता है इन सभी के बारे में आप थोड़ा बहुत जान गए होंगे लेकिन अभी हम आपको नीचे में थोड़ा विस्तार से बता देते हैं NGO के कार्य.

जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया कि एनजीओ का काम गरीब और बेसहारा लोगों के लिए करता है लेकिन एनजीओ इन का ही नहीं मदद करता बल्कि जो शारीरिक रूप से विकलांग हैं जो अपने शरीर से चलने में असमर्थ हैं उन लोगों का भी मदद करता है.

NGO हमारे भारत देश में ही नहीं बल्कि और भी देश में हैं और यह विभिन्न तरह के समाज सेवा करते हैं. NGO संगठन हमेशा विकास की ओर बढ़ते रहते हैं।

एनजीओ का काम जरूरतमंद एवं जो शारीरिक रूप से विकलांग है उन लोगों की सहायता करते हैं एनजीओ इन लोगों को ढूंढ ही लेते हैं जिनको मदद की जरूरत है चाहे कैसे भी उसे ढूंढना क्यों ना हो. बेसहारे एवं लाचार लोगों हमारे आसपास ही दिख जाते हैं।

एनजीओ के कार्य आपको लिस्ट में नीचे बता रहा हूं जिनसे आप जान सकते हैं एनजीओ के क्या कार्य होते हैं।
NGO के कार्य.

  • गरीब लोगों की सहायता करना.
  • गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान करना.
  • जिनके घर नहीं उनको घर दिलाना.
  • पेड़ पौधे लगाना.
  • प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए आगे बढ़ना.
  • आदिवासी लोगों की मदद करना.
  • बीमार व्यक्ति का इलाज कराना.

NGO के प्रकार – Types Of NGO.

अगर आप एनजीओ का काम शुरू करना चाहते हैं तो आपको एनजीओ के प्रकार के बारे में जानना बहुत जरूरी है तो चलिए आपको बताते हैं नीचे

  • बिंगो (बिजनेस फ्रेंडली इंटरनेशनल एनजीओ)
  • Engo (पर्यावरण एनजीओ)
  • गोंगो (सरकारी-संगठित गैर-सरकारी संगठन)
  • इंगो (अंतर्राष्ट्रीय एनजीओ)
  • क्वांगो (अर्ध-स्वायत्त एनजीओ)

NGO Kaise Banaye.

NGO kya Hota hai, NGO Full Form in Hindi और इन से संबंधित और भी बातों को जानने के बाद अब हम जानते हैं NGO Kaise Banaye.

अगर कोई आदमी NGO बनना चाहता है तो उससे पहले NGO Kaise Banaye के बारे में उसे पूरी जानकारी ले लेना चाहिए क्योंकि सभी राज्य में एनजीओ बनने के लिए अलग-अलग नियम होते हैं।

कोई भी आदमी जो NGO में काम करना चाहता है तो उसे पहले उसे एनजीओ में सदस्यता लेना होगा. जब NGO का registration होता है तब जाकर जो आदमी एनजीओ बनना चाहता है .

वह registration करा के एनजीओ बन सकता है. लेकिन आपको team बनाकर registration कराने का यानी कि एक team में 7 लोग होना जरूरी है तभी NGO में registration करा सकते हैं।

एनजीओ में काम करने से पहले आपको एनजीओ बन कर आप क्या करेंगे यह सब फेसला करने के बाद आपको अपनी Team में कोन, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार सदस्य आदि को अपने टीम मेंबर में से बना लेना है. उसके बाद ही एनजोओ मैं registration कर सकते हैं।

NGO में काम करने से पहले आपको लोगों के परेशानियों को जानना होगा उनके परेशानियों को महसूस करना होगा. अगर आप इन बातों को गौर करेंगे तो आपको पता लग जाएगा कि आप एनजीओ किस लिए बनेंगे।

आप भी समाज में रहते हैं और हम भी समाज में रहते हैं आपने देखा होगा के बहुत से लोग किसी के डर से अपनी आवाज उठा नहीं सकते हैं या फिर उनकी जो समस्या है वह लोग नहीं सुनते हैं तो ऐसे लोगों की मदद करना एक NGO member का जिम्मेदारी होता है.

इसलिए एक NGO member का एक ही उद्देश्य होता है कि लाचार व्यक्ति के परेशानियों को सुनकर उनकी मदद करना।

गैर सरकारी संगठन मैं काम करने से पहले आपको team बनाना होगा आपको team में ऐसे व्यक्ति को जोड़ना है जो व्यक्ति समाज के हित के लिए काम करना चाहता हो.

यानी कि ऐसे व्यक्ति को चुने जो वित्तीय प्रबंधन, मानव संसाधन, और networking कर सकता हो. और इन पर कोई भी आगे फैसला लेने से पहले हिचकिचाहट ना करें आपको ऐसे व्यक्ति की तलाश करना चाहिए।

nGO registration के लिए Documents-

ट्रस्ट पंजीकरण के लिए-

ट्रस्ट एक्ट भारत के अलग-अलग राज्यों में होता है परन्तु यदि किसी राज्य में Trust अधिनियम नही है तो उस राज्य में 1882 ट्रस्ट एक्ट लागू होता है। इस अधिनियम के अंतर्गत कम से कम दो Trustees होना जरुरी है।

अगर इस अधिनियम के तहत NGO का रजिस्ट्रेशन करना है तो आपको Charity Commissioner या Registrar के ऑफिस में आवेदन देना होगा। Trust Act के अंतर्गत NGO Register करने के लिए आपको Deed Document लगाना होगा।

  • बिजली या पानी का एक बिल
  • कंपनी के कम से कम दो सदस्यों का पहचान प्रमाण
  • वोटर आई.डी.
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट
  • आधार कार्ड

सोसायटी पंजीकरण के लिए

इस अधिनियम के तहत NGO को सोसाइटी के रूप में रजिस्टर किया जाता है। लेकिन कुछ राज्यों जैसे- महाराष्ट्र राज्य में सोसाइटी अधिनियम के तहत NGO को Trustee के तौर पर भी Registered किया जा सकता है।

सोसाइटी एक्ट में रजिस्ट्रेशन करने के लिए ‘Memorandum Of Association And Rules And Regulation Document’ लगाया जाता है। इस डॉक्यूमेंट को बनाने के लिए कम से कम 7 सदस्यों की आवश्यकता होती है ना की स्टाम्प पेपर की आवश्यकता पड़ती है।

  • समाज का नाम
  • कार्यालय का पता प्रमाण
  • सभी नौ सदस्यों की पहचान प्रमाण:
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट की प्रति
  • वोटर आई.डी.
  • आधार कार्ड ज्ञापन की दो प्रतियां एसोसिएशन और समाज के उपनियमों।

Companies Act -धारा 8 कंपनी के लिए-

कम्पनीज एक्ट के अंतर्गत NGO का रजिस्ट्रेशन करने के लिए ‘Memorandum And Articles Of Association And Regulation Document’ की आवश्यकता होती है

इस दस्तावेज को बनाने के लिए किसी भी प्रकार के स्टाम्प पेपर की जरुरत नही होती है और यह दस्तावेज बनाने के लिए कम से कम तीन सदस्यों का होना जरूरी है।

  • अनुमोदन के लिए कंपनी का नाम।
  • कार्यालय का पता प्रमाण। यह बिजली या पानी का बिल या हाउस टैक्स रसीद हो सकता है ।
  • सभी निदेशकों की पहचान प्रमाण |
  • ड्राइविंग लाइसेंस |
  • पासपोर्ट की प्रति |
  • वोटर आई.डी. |
  • आधार कार्ड ज्ञापन एसोसिएशन और कंपनी के एसोसिएशन के लेख।

nGO रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया | NGO ONLINE REGISTRATION IN HINDI-

भारत में तीन प्रकार से एनजीओ का पंजीकरण किया जाता है जिनमे राज्य के लोक न्यास अधिनियम के तहत ट्रस्ट, सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत सोसायटी वकंपनी अधिनियम, 2013 के तहत धारा 8 कंपनी को रजिस्टर्ड किया जाता है |

यदि आप भारत देश में NGO बनाना चाहते है तो इसके लिए 3 तरह की प्रक्रिया होती है या आप एनजीओ का रजिस्ट्रेशन इन 3 अधिनियम में से किसी एक अधिनियम में कर सकते है।

सर्वप्रथम आपको thenationaltrust.gov.in पर विजिट करना होगा |
इसके पश्चात आप ‘Registration>New NGO Registration’ पर क्लिक करे |

NGO Kya hota hai, ngo in hindi
  • इसके बाद फॉर्म के अनुसार आप जानकारी भर सकते है |
  • कुल मिलाकर आपको 10 स्टेप में फॉर्म भरना होगा |
NGO ONLINE REGISTRATION IN HINDI 22
  • सबसे अंतिम स्टेप में आपको पेमेंट करना होगा |
  • इसके पश्चात आपकी जानकारी रजिस्ट्रेशन प्राधिकरण के पास सबमिट हो जायेंगे |
  • 8-10 दिन में आपको अपने रजिस्ट्रेशन का स्टेटस पता आपकी ईमेल या मोबाइल मेसेज से पता लग जायेंगा |

NGO के उद्देश्य-

  • बुजुर्गों की मदद करना और उन्हें वृद्धा आश्रम में रखा भी जाता है उनके खाने-पीने और स्वास्थ्य को लेकर भी पूरी जिम्मेदारी उठाई जाती है।
  • विधवाओं की हर तरह से मदद करना।
  • एनजीओ गरीब और अनाथ बच्चों के लिए स्कूल भी बनवा जाती है और उसमें मुफ्त शिक्षा का प्रावधान रखा जाता है बच्चों के शिक्षा और खाने-पीने और कपड़ों का पूरा ध्यान रखा जाता है
  • आदिवासी लोगों की हर तरह से मदद करना।
  • गरीब समाज में होने वाली बीमारियों और इसका चिकित्सीय सहायता करना दवाइयां मुहैया कराना और डॉक्टरों का इंतजाम करना।
  • गरीब बेसहारा लोगों की आर्थिक सहायता करना।

भारत के TOP NGO LIST-

  • Libra society
  • Pratham
  • Sammaan Foundation
  • Sargam Sanstha
  • Nanhi Kali
  • Give India
  • Child Rights and You (Cry)
  • Goonj Limited
  • Smile Foundation
  • Helpage India

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको के NGO Kya hota hai, NGO in Hindi, NGO Full Form in Hindi, nGO के क्या कार्य है, NGO के प्रकार, nGO registration के लिए Documents, NGO ONLINE REGISTRATION IN HINDI, NGO के उद्देश्य, भारत के TOP NGO LIST के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment