Output Kya Hota Hai, Output Devices In Hindi में सीखे

आज हम यह जानेंगे के output kya hota hai, output devices in hindi, Output Device के प्रकार ,output devices के कार्य, output in hindi के बारे के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है.

output kya hota hai, output in hindi-

Output दो शब्दों से मिलकर बना हुआ प्रतित होता है। जिसके अर्थ को समझने से Output को समझ सकते हैं। Output दो शब्द Out और Put से मिलकर बना है।

जिसमें Out का मतलब बाहर तथा Put का मतलब रखना या डालना होता है। इसके अनुसार Output का मतलब बाहर रखना या डालना होगा।

Output का हिंदी में निर्गम भी होता है। जिसका मतलब “निकलने या निकालने की क्रिया” होता है। यानी जब हम कुछ निवेश या निविष्ट करते हैं।

तब उसके परिणामस्वरूप प्राप्त को Output कहा जाता है। इसी प्रकार जब हम Computer में किए गए Input का परिणाम Output कहलाएगा।

Computer संचालित करने का यह अंतिम प्रक्रिया होता है। जिसमें Computer कोई Information या Data देता है। जैसे; जब Computer को निर्देश या कमांड देते हैं। तब उस निर्देश या कमांड का Computer जो परिणाम देता है। वही Output कहलाता है।

output devices के कार्य-

  • यह इकाइयां यूजर को आउटपुट प्रदान करती हैं।
  • कम्प्यूटर द्वारा प्रोसेसिंग के उपरांत प्राप्त results को ऐसे रूप में बदल देती हैं, जो कि यूजर्स के समझ में आ सके।
  • इन उपकरणों के द्वारा कंप्यूटर(CPU) द्वारा प्रोसेस की हुई जानकारी को हम देख या प्राप्त कर पाते हैं।
  • इन इकाइयों की मदद से, प्राप्त परिणाम को हम यातो देख सकते हैं जैसे मॉनिटर के द्वारा, या सुन सकते हैं जैसे स्पीकर के द्वारा, या प्रिंटर व प्लॉटर जैसे उपकरण की मदद से रिजल्ट को हार्ड कॉपी मतलब कागज वगैरह में प्रिंट करवा कर, प्राप्त भी कर सकते हैं।

Output Device के प्रकार (Types of Output Devices in Hindi)-

अब तक हमें जाना ही output kya hota hai, अब हम output devices in hindi के प्रमुख उदाहरण भी जाना। लेकिन Computer के इन Output Device से प्राप्त Output के अनुसार इसे दो श्रेणियों में बांट सकते हैं।

Soft Copy Output Device-

Soft Copy Output Device से Output Digital रुप में प्राप्त होता है। जिसे Soft Copy कहते हैं। Soft Copy के रुप में Output प्राप्त करने के लिए उचित Computer Device और Software की आवश्यकता होती है।

इससे प्राप्त Output अस्थायी होता है। जिसे छू या महसूस नहीं कर सकते हैं। जैसे; Monitor और Speaker Soft Copy Output Device का सबसे अच्छा उदाहरण है।

मॉनीटर (Monitor)-

मॉनीटर(Monitor) एक ऐसा आउटपुट संयंत्र (Output Device) है जो टी.वी. जैसे स्क्रीन पर आउटपुट को प्रदर्शित करता है इसे विजुअल डिस्प्ले यूनिट (Visual Display Unit) भी कहते है मॉनीटर (Monitor) को सामान्यतः उनके द्वारा प्रदर्शित रंगों के आधार पर तीन भागों में वर्गीकृत किया जाता है-

इसके दो प्रकार कुछ इस तरह हैं-

1. CRT Monitor:-

output devices in hindi


ये भारी और बड़े होते हैं और बहुत desk space और electricity इस्तमाल करते हैं. यह सबसे पुरानी इस्तमाल किये जाने वाली technology है. यह cathode ray tube technology आधारित है. जो की television के लिए बनाए गए थे. मगर ये monitor आज कल नहीं चलते.

LCD Monitor:-

एक तरीके का flat panel display है. ये CRT के मुकाबले नयी तकनीक है. ये monitors कम desk space इसतमाल करते हैं. यह कम वजन के होते हैं. यह monitors कम electricity इस्तमाल करते हैं. एक अरसे से यही monitors का इस्तमाल किया जा रहा है. laptops और notebook computers पे, ये touchscreens का भी काम करते हैं.

Screen Projector

Projector यह भी एक Output Device है. इसके इस्तमाल से computer के screen के सभी गति विधिओं को बड़े परदे पर दिखाया जाता है. इसके इस्तमाल से हम presentations दिखा सकते हैं.

इस Device के Output को कोई दिवार या फिर सफ़ेद परदे पे Display कर सकते हैं. आमतोर पे जिस surface पे light को Project किया जाता है वह surface size में बड़ा, सीधा और सफ़ेद color का होना चाहिए.

Projectors का इस्तमाल Moving Images, slideshow और Videos को play करने के लिए किया जाता है. इसे बहु सख्यंक लोगों को Presentation दिखा सकते हैं. इस device का size भी छोटा होता है और Weight भी कम होता है.

Projector ka upyog कहाँ होता है-

  • PowerPoint presentation को business meeting. में Project किया जाता है.
  • बचों को class में समझाने के लिए Projector का इस्तमाल किया जाता है.
  • TV और Computer में जो multimedia (movies) है उनको Projector के जरिये बड़े परदे पे Play करने के लिए.
  • Public Places में कोई वस्तु या सेवाओं को लोगों को समझाने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.
  • कोई खाली दिवार पे अलग अलग प्रकार की तस्वीर को display करने के लिए जिसे look बदल जाए.
  • Projectors को Computer से जोड़ने के लिए HDMI या VGA cables का इस्तमाल किया जाता है.

Speaker (स्पीकर)-

Speaker एक Output डिवाइस है जो Electronic Signal को Sound में Convert करता है. Speaker की मदद से हम कंप्यूटर में ध्वनी को सुन सकते हैं.

output in hindi

कंप्यूटर में एक Component होता है जिसे Sound Card कहते हैं जिसकी मदद से Computer में ध्वनि पैदा होती है. Speaker इन्हीं Sound Card से निकलने वाली ध्वनि को Loudly Produce करते हैं. किसी – किसी कंप्यूटर में स्पीकर पहले से ही लगा होता है और किसीमें स्पीकर को बहार से लगाना होता है.

Speaker में एप्लीफायर लगे होते हैं जब स्पीकर कंप्यूटर से निर्देश प्राप्त करते हैं तो एप्लीफायर विभिन्न आवर्ती पर कम्पन्न करने लगते हैं जिससे ध्वनि उत्पन्न होती है.

Speaker के प्रकार (Type Of Speaker)-

Passive Speaker – इसमें कोई Internal एप्लीफायर नहीं होता है. एक वायर का उपयोग करके इस स्पीकर को एप्लीफायर के साथ जोड़ा जाता है.

Powered Speaker – इस प्रकार के Speaker में Internal एप्लीफायर पहले से ही लगा होता है.

Headphone (हैडफ़ोन)-

Headphone के बारे में तो आप सभी को पता होगा. Headphone एक Output Device है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर की ध्वनि को सुनने के लिए किया जाता है.

इसे सर पर बेल्ट की तरह बाँधा जाता है और इसके दोनों स्पीकर पहनने वाले के कानों के ऊपर आ जाते हैं. Headphone की ध्वनि को केवल वही इंसान सुन सकता है जो इसे पहनता है.

इसका प्रयोग Call Center, कमेंटेटर आदि जगह किया जाता है. किसी Headphone में Mike भी लगा होता है जिसके द्वारा कॉल पर बात की जा सकती है.

Speech Synthesizer (स्पीच सिंथेसाइज़र)-

Speech Synthesizer एक Advance कंप्यूटर आउटपुट डिवाइस है, जिसकी मदद से लिखे गए Text को आवाज में बदला जा सकता है. व्यापक रूप से इसका इस्तेमाल अंधे और गूंगे लोगों के इलाज में किया जाता है.

Hard Copy Output Device

Hard Copy Output Device से Output Paper रुप में प्राप्त होता है। जिसे Hard Copy कहते हैं। Hardware Copy को छू भी सकते हैं, देख भी सकते हैं और महसूस भी कर सकते हैं। इससे प्राप्त Output अस्थायी होता है। जैसे; Printer Hard Copy Output Device का सबसे अच्छा उदाहरण है।

प्रिंटर (Printer)-

प्रिंटर एक ऑनलाइन आउटपुट डिवाइस (Online Output Device) है जो कंप्यूटर से प्राप्त जानकारी को कागज पर छापता है कागज पर आउटपुट (Output) की यह प्रतिलिपि हार्ड कॉपी (Hard Copy) कहलाती है कंप्यूटर से जानकारी का आउटपुट (Output) बहुत तेजी से मिलता है और

output kya hota hai 1

प्रिंटर (Printer) इतनी तेजी से कार्य नहीं कर पाता इसलिये यह आवश्यकता महसूस की गयी कि जानकारियों को प्रिंटर (Printer) में ही स्टोर (Store) किया जा सके इसलिये प्रिंटर (Printer) में भी एक मेमोरी (Memory) होती है जहाँ से यह परिणामों को धीरे-धीरे प्रिंट करता हैं

“प्रिंटर (Printer) एक ऐसा आउटपुट डिवाइस (Output Device) है जो सॉफ्ट कॉपी (Soft Copy) को हार्ड कॉपी (Hard Copy) में परिवर्तित (Convert) करता हैं”

Plotter-

Plotter एक आउटपुट डिवाइस हैं इससे चित्र (Drawing), चार्ट (Chart), ग्राफ (Graph) आदि को प्रिंट किया जा सकता हैं यह 3 D Printing भी कर सकते हैं इसके द्वारा बैनर पोस्टर आदि को प्रिंट किया जा सकता हैं

“Plotter एक ऐसा आउटपुट डिवाइस हैं जो चार्ट (chart), ग्राफ (Graph), चित्र (Drawing), रेखाचित्र (Map) आदि को हार्ड कॉपी पर प्रिंट करता हैं ”

output kya hota hai.jpeg (1)

यह दो प्रकार के होते हैं-

  1. Drum Pen Plotter
  2. Flat Bed Plotter

Conclusion-

  • जैसा की आज हमने आपको output kya hota hai, output devices in hindi, Output Device के प्रकार ,output devices के कार्य, output in hindi के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment