Web Server In Hindi और कैसे काम करता है, सीखे Web Server Kya Hai में

आज हम यह जानेंगे के web server in hindi,web server kya hai, web server kaise kam karta hai, web server ke prakar के बारे में आपको स्टेपानुसार बताने वाले है

web server kya hai – web server in hindi –

Web Server एक ऐसा प्रोग्राम होता है जो वेबपेज सर्व करता है, अर्थात वह सॉफ्टवेयर जो वेब पेजों को यूजर तक पहुंचाता है वेब सर्वर कहलाता है ।

इसे दो भागों में बांटा जा सकता है, पहला वह मशीन जिस पर वेब सर्वर को स्थापित किया जाता है और दूसरा सॉफ्टवेयर जो वेब सर्वर की तरह काम करता है।

सामान्यतया वेब पेज HTTP प्रोटोकॉल द्वारा यूजर तक पहुंचाये जाते है। यूजर किसी भी कंप्यूटर में वेब सर्वर सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करके एवं उसे इंटरनेट से जोड़ कर, इन्टरनेट पर वेब पेज प्रोवाइड करने वाले वेब सर्वर में बदल सकता हैं।

यूजर इन्टरनेट पर जो भी वेब पेज देखता है वे उनके कंप्यूटर पर किसी ना किसी वेब सर्वर के द्वारा ही पहुंचाये जाते हैं। यदि यूजर अपने कंप्यूटर पर केवल सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करें और उसे इंटरनेट से कनेक्ट ना करे तो भी यह वेब सर्वर कहलायगा लेकिन यह सर्वर लोकल लेवल पर ही यूजर के किये कार्य करेगा |

एक कम्‍प्‍यूटर जो web page को भेजता (deliver) है, वेब सर्वर (Web Server) कहलाता है। प्रत्‍येक वेब सर्वर का एक IP एड्रेस होता है तथा एक डॉमेन नेम होता है।

कोई भी कम्‍प्‍यूटर, वेब सर्वर में परिवर्तित हो जाता है, जबकि उसमें सर्वर सॉफ्टवेयर इन्‍स्‍टॉल हो तथा वह internet से कनेक्‍ट (connect) हो।

ऐसी बहुत सी वेब सर्वर ऐप्‍लीकेशन्‍स हैं जो NCSA एवं Apache के पब्लिक डॉमेन सॉफ्टवेयर रखती हैं तथा माइक्रोसॉफ्ट के व्‍यवसायिक पैकेजेज़, Netscape एवं अन्‍य और भी हैं।

web server kaise kam karta hai –

  • जब हम कोई भी application या document file वेबसाइट पर देखने के लिए रिक्वेस्ट करते हैं तो ये वेब सर्वर रिक्वेस्ट की गई file कंही ना कंही server पर स्टोर रहती है।
  • और उस पर click करते ही 1-2 second में user के सामने open कर देता है। उदाहरण आपने देखा होगा कि आज कल youtube पर काफी सारे वीडियो देखे जाते हैं।
  • जब भी कभी वीडियो या ऑडियो you tube पर देखने के लिए search करते हैं तो ये रिक्वेस्ट you tube के web server पर पहुँचती हैं और इसका server उस वीडियो या ऑडियो को आपके पास पहुंचा देता है।
  • कभी कभी इंटरनेट पर server fail , server error , इसका कारण ये है कि server कुछ समय के लिए बंद कर दिया है या बहुत सारे लोग एक ही चीज को ज्यादा use करतें है।
web server in hindi , web server kaise kam karta hai
  • आपने देखा होगा कि जब हम कभी कॉम्पटीशन एग्जाम का फॉर्म भरते हैं और बैंक में पैसे भी जमा करते हैं तो कुछ समस्याएं जैसे server not available , server not found , error found जैसी कंही समस्याएं आती हैं जो कि हमें server not connecting का निर्देश देती हैं।

web server ke prakar – वेब सर्वर के प्रकार (Types of Web Server in Hindi)

वेब सर्वर मुख्य 4 प्रकार के होते हैं –

  1. Apache HTTP Server
  2. Internet Information Server
  3. NGINX Web Server
  4. Light Speed Web Server
web server ke prakar

1 – अपाचे वेब सर्वर (Apache Web Server)-

Apache Web Server को अपाचे सॉफ्टवेयर फाउंडेशन के द्वारा Develop किया गया है. यह पूरी दुनिया में सबसे लोकप्रिय वेब सर्वर में से एक है. अपाचे एक Open Source Software है जिसे आप किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे Windows, Linux, Mac OS में इनस्टॉल किया जा सकता है. दुनिया की लगभग 60 प्रतिशत से ज्यादा वेब सर्वर मशीन अपाचे सर्वर का इस्तेमाल करती हैं.

2 – इंटरनेट सूचना सर्वर (International Information Server)-

International Information Server (IIS) माइक्रोसॉफ्ट का एक प्रोडक्ट है. यह एक High Performing वेब सर्वर है. लेकिन IIS सर्वर अपाचे सर्वर की तरह Open Source नहीं है इसलिए आप अपनी आवश्यकतानुसार बदलाव इसमें नहीं कर सकते हैं. IIS सर्वर सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में काम नहीं करता है, यह कुछ ही ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे कि Windows को सपोर्ट करता है.

3 – एनजीआईएनएक्स वेब सर्वर (NGINX Web Server)-

NGINX भी अपाचे की तरह एक एक Open Source वेब सर्वर है जिसमें कि IMAP/POP3 प्रॉक्सी सर्वर शामिल होते हैं. यह सर्वर अपने हाई परफॉर्मेंस, स्थिरता, सरल कॉन्फ़िगरेशन और कम संसाधन उपयोग करने के लिए लोकप्रिय है. NGINX वेब सर्वर की एक ख़ास बात यह है कि यह Request को हैंडल करने के लिए थ्रेड का इस्तेमाल नहीं करता है. कई सारी होस्टिंग कंपनी NGINX सर्वर का इस्तेमाल करती हैं.

4 – लाइट स्पीड वेब सर्वर (Light Speed Web Server)-

Light Speed Web Server अन्य वेब सर्वर की तुलना में अच्छी परफॉरमेंस देता है. यह एक कमर्शियल नेटवर्क सर्वर भी है. अगर आप अपने सर्वर को Light Speed Web Server में अपग्रेड करते हैं तो आपके सर्वर की पर्फोर्मांस बेहतर होती है.

वेब सर्वर के फायदे ( Web Server in hindi ke fayde)-

एचटीटीपी प्रोटोकॉल (HTTP Protocol) – HTTP का पूरा नाम ‘Hyper Text Transfer Protocol’ है जिसका उपयोग हम इंटरनेट के माध्यम से हाइपरमीडिया या हाइपर टेक्स्ट फाइल को एक जगह से दूसरी जगह भेजने के लिए करते हैं।

एचटीटीपी के माध्यम से क्लाइंट ब्राउज़र एप्लीकेशन के द्वारा सर्वर से डाटा को ट्रांसफर कर पाते है और इसकी मदद से ही किसी क्लाइंट और सर्वर के मध्य कनेक्शन बनाना संभव होता है।

एचटीटीपी प्रोटोकॉल के उपयोग से ही वर्ल्ड वाइड वेब (Www) के जरीए डाटा भेजना संभव हो पता है। एचटीटीपी प्रोटोकॉल दुनियाभर में प्रयोग होने वाला सबसे प्रचलित प्रोटोकॉल है जिसके माध्यम से हम इंटरनेट जैसी टेक्नोलॉजी का उपयोग कर पाते है। लॉगिन

(Login) – वेब सर्वर में यह क्षमता होती है की वह क्लाइंट रिक्वेस्ट तथा फाइल्स के लिए सर्वर रेस्पॉन्स के बारे में विस्तृत जानकारी को लॉगिन करने में सहायक होता है। वेब सर्वर वेब मास्टर को फाइल्स पर लॉग एनालाइजर चलाकर डाटा कलेक्ट की परमिशन भी देता है।

Authentication – वेब सर्वर सभी रिसोर्सेस को एक्सेस करने से पहले यूजर नेम और पासवर्ड के माध्यम से Authentication के लिए अतिरिक्त Authorization Request भी भेजता है।

Handling – वेब सर्वर एक या एक से अधिक रेकलेटिड इंटरफ़ेस के सपोर्ट द्वारा स्टैटिक कंटेंट तथा डायनामिक कंटेंट्स की हैंडलिंग करता है। जैसे – SSI, CGI, SCGI, FastCGL, JSP, ColdFusion, PHP आदि।

Security – वेब सर्वर HTTPS सामान्य पोर्ट 80 के स्थान पर स्टैंडर्ड पोर्ट 443 पर सुरक्षित कनेक्शन की परमिशन का समर्थन करता है।

Virtual Hosting – वेब सर्वर पर वर्चुअल होस्टिंग के माध्यम से एक आईपी एड्रेस के निर्माण द्वारा कई साइट्स को सर्व करना संभव हो पाता है।

Bandwidth Throttling – वेब सर्वर रेस्पोंस की स्पीड को सीमित करता है ताकि नेटवर्क संतृप्त न हो और अधिक क्लाइंट को सर्व करने में सक्षम रहे।

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको web server in hindi,web server kya hai, web server kaise kam karta hai, web server ke prakar के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT करे हम ही TECHNICAL PROBLEM का समाधान करते है. और यदि तुरंत सेवा लेना चाहते हो तो हमारे साईट के Contact Us में जाकर हमसे Contact भी कर सकते है.

Leave a Comment